e0a485e0a482e0a4a4e0a4b0e0a58de0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a580e0a4af e0a4ace0a4bee0a4b8e0a58de0a495e0a587e0a49fe0a4ac
e0a485e0a482e0a4a4e0a4b0e0a58de0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a580e0a4af e0a4ace0a4bee0a4b8e0a58de0a495e0a587e0a49fe0a4ac 1

बैतूल. देश ने एक अंतर्राष्ट्रीय बास्केटबॉल खिलाड़ी को खो दिया है. बैतूल जिले की प्रार्थना साल्वे का शव शहर के नजदीक कोसमी डैम से बरामद हुआ है. डैम के पास प्रार्थना की गाड़ी मिली थी. ये हादसा है या हत्या या आत्महत्या. पुलिस इसकी जांच कर रही है. एसडीआरएफ की टीम ने डैम में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया. यहां से प्रार्थना कि शव को बाहर निकाला गया. बताया जा रहा है कि प्रार्थना लंबे समय से डिप्रेशन से गुजर रही थी.

प्रार्थना साल्वे ने जॉर्डन में आयोजित एशिया कप में जूनियर बास्केटबॉल प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया था. प्रार्थना बैतूल की बास्केटबॉल खिलाड़ी थी. कोसमी डैम में उसकी लाश मिली.  बताया जा रहा है कि प्रार्थना पिछले 6 महीने से डिप्रेशन का शिकार थी. उनके डिप्रेशन की दो बड़ी वजह सामने आई हैं. 6 महीने पहले उनके बड़े भाई देवेंद्र की इंदौर के चर्चित स्वर्णबाग अग्निकांड में मौत हो गई थी. इसके अलावा पैर में चोट लगने की वजह से बास्केटबॉल में अपने आगे के करियर को लेकर भी डिप्रेशन में थी. इसलिए ऐसी आशंका है कि उन्होंने आत्महत्या की है.

डिप्रेशन की ये दो वजह थीं
6 महीने पहले प्रार्थना के बड़े भाई देवेंद्र प्रार्थना को दिल्ली छोड़ कर वापस लौट रहे थे. लौटते वक्त वो इंदौर के स्वर्णबाग में रुक गए. यहां अग्निकांड में उनकी मौत हो गई. इसके बाद से प्रार्थना काफी ज्यादा परेशान थी. दूसरी वजह प्रार्थना को लगी एक चोट बताई जा रही है. पैर में लिगामेंट में चोट की वजह से उन्हें दौड़ने में परेशानी हो रही थी. इसलिए वह ग्राउंड पर खेल में अपना 100 प्रतिशत नहीं दे पा रही थीं. प्रार्थना को डर था कि कहीं यह चोट उनके करियर को बर्बाद ना कर दे.

READ More...  FIH Pro League: हेंड्रिक्स के डबल धमाल से बेल्जियम ने भारत को 3-2 से हराया, तीसरे स्थान पर खिसकी टीम इंडिया

ये भी पढ़ें- OMG:मध्य प्रदेश में शिक्षा का सच, 18 सरकारी स्कूलों में सिर्फ एक शिक्षक, 12 हजार दूसरे कामों में व्यस्त

छह महीने के भीतर परिवार में दो की मौत
फिलहाल पुलिस प्रार्थना की मौत को लेकर जांच पड़ताल कर रही है. कोतवाली थाना पुलिस ने प्रार्थना के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है. प्रार्थना चार भाई बहनों में सबसे छोटी थी. उसके पिता शिक्षक हैं और बेतूल में पदस्थ हैं. 6 महीने के भीतर दो बच्चों की मौत से परिवार गहरे सदमे में है.

Tags: Betul news, Madhya pradesh latest news, Madhya pradesh news, Madhya Pradesh News Updates, Suicide

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)