e0a485e0a497e0a58de0a4a8e0a4bfe0a4b5e0a580e0a4b0e0a58be0a482 e0a495e0a58b e0a4b8e0a58de0a4a5e0a4bee0a4afe0a580 e0a4b8e0a587e0a4a8
e0a485e0a497e0a58de0a4a8e0a4bfe0a4b5e0a580e0a4b0e0a58be0a482 e0a495e0a58b e0a4b8e0a58de0a4a5e0a4bee0a4afe0a580 e0a4b8e0a587e0a4a8 1

नई दिल्ली. देश के अग्निवीरों को वो हर तरह की सुविधा और सम्मान दिया जाएगा जो किसी स्थायी सैनिकों को दिया जाएगा. सेना द्वारा जारी टर्म एंड कंडीशन में कहा गया गया कि नए नियमों के तहत जो अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है, उसके तहत नए रंगरूटों को भी वहीं अवार्ड और सम्मान दिया जाएगा जो सेना में किसी स्थायी सैनिकों को दिया जाता है. यानी इंडियन आर्मी के लिए जो गाइडलाइन सभी सैनिकों के लिए है, वहीं गाइडलाइन सेवा में चार साल के दौरान नए अग्निवीरों के लिए भी होगा.

अन्य रेजिमेंट में ट्रांसफर भी उसी तरह
एएनआई की खबर के अनुसार इसके साथ ही इंडियन आर्मी के टर्म एंड कंडीशन में यह भी कहा गया है कि स्थायी सैनिकों की तरह ही अग्निवीरों को भी किसी भी रेजिमेंट या यूनिट में भर्ती किया जा सकता है. यहां तक स्थायी सैनिकों की तरह ही उनका ट्रांसफर भी किसी अन्य रेजिमेंट में किया जा सकता है. इसके अलावा सेना के हित में जो भी नियम स्थानी सैनिकों के लिए है, वहीं इन अग्निवीरों के लिए भी होगा.यानी चार सालों की सेवा के दौरान इन अग्निवीरों को भी वही सम्मान और सुविधाएं दी जाएंगी जो स्थायी सैनिकों को दी जाती.

सुनहरा भविष्य होगा
गौरतलब है कि भारतीय सेना ने अग्निवीरों के लिए डिटेल नोटिफिकेशन जारी किया है. इसके तहत सेना ने देश में हो रहे विरोध प्रदर्शनों पर सभी तरह की गलतफहमियां दूर करने की कोशिश की. रक्षा मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव लेफ्टिनेंट जनरल अरुण पुरी ने कहा कि देश के युवाओं को अपना कीमती समय बर्बाद नहीं करना चाहिए और उन्हें फिजिकल टेस्ट के लिए अपनी तैयारी करनी चाहिए.

READ More...  Live Cricket Score, Ind vs Aus 3rd Test, Day 5 : लंच के बाद खेल हुआ शुरू, भारत (206/3) को जीत के लिए चाहिए 201 रन

उन्होंने कहा कि चार साल की सेवा के दौरान अग्निवीरों को कई तरह के प्रशिक्षण दिए जाएंगे जिसमें उन्हें नए-नए टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी दी जाएगी. चार साल के बाद उनके पास कई तरह के विकल्प होंगे जिससे उनका सुनहरा भविष्य होगा.

Tags: Agniveer, Indian Army news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)