e0a485e0a4a8e0a4bfe0a4b2 e0a485e0a497e0a58de0a4b0e0a4b5e0a4bee0a4b2 e0a4a8e0a587 e0a49ce0a4a4e0a4bee0a488 e0a489e0a4aee0a58de0a4ae
e0a485e0a4a8e0a4bfe0a4b2 e0a485e0a497e0a58de0a4b0e0a4b5e0a4bee0a4b2 e0a4a8e0a587 e0a49ce0a4a4e0a4bee0a488 e0a489e0a4aee0a58de0a4ae 1

हाइलाइट्स

सेमीकंडक्टर प्लांट महाराष्ट्र की जगह गुजरात में क्यों? अनिल अग्रवाल ने बताई वजह
सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले मैन्युफैक्चरिंग प्लांट की स्थापना के लिए एक साइंटिफिक प्लान तैयार
गुजरात से भी बड़ा होगा महाराष्ट्र का डाउनस्ट्रीम प्लांट 

नई दिल्ली. वेदांता रिसोर्सेज (Vedanta Resources) के चेयरमैन अनिल अग्रवाल ने शनिवार को यह उम्मीद जताई कि गुजरात में प्रस्तावित सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले मैन्युफैक्चरिंग प्लांट (Vedanta-Foxconn Semiconductor Plant) का निर्माण शुरू होने के ढाई साल के भीतर वहां प्रोडक्शन का काम शुरू हो जाएगा. अग्रवाल ने दिल्ली में आयोजित एक समिट के दौरान ये बात कही.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, अग्रवाल ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों के सहयोगपूर्ण रवैये को देखते हुए उन्हें ढाई साल में इस प्लांट में प्रोडक्शन शुरू होने की उम्मीद है. उन्होंने कहा, ‘मेरा दिल और आत्मा इसमें बसा हुआ है. जिस तरह से सरकार सहयोग कर रही है, राज्य सरकार सहयोग कर रही है, मुझे कोई संदेह नहीं दिखता है कि (Groundbreaking समारोह के) ढाई साल के भीतर ऐसा होने लगेगा.’

ये भी पढ़ें- वेदांता के चेयरपर्सन ने शाहरुख को बर्थडे विश कर लिखा, आपके एक डायलॉग ने कराया केयर्न से सौदा

एक लाख रोजगार पैदा होने की संभावना 
वेदांता गुजरात में फॉक्सकॉन के साथ मिलकर यह प्लांट लगाने जा रही है. करीब 1.54 लाख करोड़ रुपये के व्यापक निवेश वाले इस प्लांट की स्थापना के लिए हाल ही में राज्य सरकार के साथ एक समझौता हुआ है. इससे करीब एक लाख रोजगार पैदा होने की संभावना जताई गई है. प्रस्तावित निवेश में से 94,000 करोड़ रुपये डिस्प्ले मैन्युफैक्चरिंग यूनिट की स्थापना पर लगाए जाएंगे जबकि 60,000 करोड़ रुपये का निवेश सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने में किया जाएगा.

READ More...  Business Idea: इस पेड़ की खेती कर कमा सकते हैं लाखों रुपये, दुनिया भर में है डिमांड

ये भी पढ़ें- सेमीकंडक्‍टर निर्माण में भी आत्‍मनिर्भर बनेगा भारत, गुजरात में वेदांता लगाएगी प्‍लांट, सरकार मुफ्त में देगी जमीन

सेमीकंडक्टर प्लांट महाराष्ट्र की जगह गुजरात में क्यों?
अग्रवाल ने कहा कि इस प्रस्तावित प्लांट की स्थापना के लिए एक साइंटिफिक प्लान तैयार की गई है. इस अवसर पर उन्होंने इस प्लांट के लिए गुजरात को चुने जाने की वजह बताते हुए कहा कि अच्छे सलाहकारों वाली एक स्वतंत्र टीम ने 5-6 राज्यों का दौरा कर अनुकूल जगह का आकलन किया था. उन्होंने कहा कि गुजरात में इस प्लांट के लिए माकूल माहौल मिलने के साथ ही बेहतर सुविधाएं भी मिल रही थीं.

ये भी पढ़ें- गुजरात सरकार का दावा- वेदांता-फॉक्सकॉन सेमीकंडक्टर प्लांट की जगह 2 हफ्ते में तय होने की उम्मीद

महाराष्ट्र में डाउनस्ट्रीम प्लांट लगाया जाएगा
पहले इस प्लांट को महाराष्ट्र में लगाए जाने की चर्चा चल रही थी लेकिन बाद में इसके लिए गुजरात को चुने जाने से कई तरह के विवाद पैदा हो गए थे. इस पर अपनी स्थिति स्पष्ट करते हुए वेदांता चेयरमैन ने कहा, ‘महाराष्ट्र में डाउनस्ट्रीम प्लांट लगाया जाएगा जो कि गुजरात से भी बड़ा होगा.’ डाउनस्ट्रीम प्लांट का मतलब कच्चे माल और कलपुर्जों से अंतिम प्रोडक्ट बनाने वाली यूनिट होता है.

Tags: Business news in hindi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)