e0a485e0a4aae0a4a8e0a587 e0a4b2e0a4bee0a496e0a58be0a482 e0a495e0a4b0e0a58be0a4a1e0a4bce0a58be0a482 e0a495e0a587 e0a498e0a4b0 e0a495
e0a485e0a4aae0a4a8e0a587 e0a4b2e0a4bee0a496e0a58be0a482 e0a495e0a4b0e0a58be0a4a1e0a4bce0a58be0a482 e0a495e0a587 e0a498e0a4b0 e0a495 1

नई दिल्ली. महंगाई के दौर में घर बनाना या खरीदना काफी मुश्किल हो गया है. व्यक्ति अपने सपनों का घर बनाने में जीवन भर की जमापूंजी लग जाती है. ऐसे में घर और उसमें रखें निजि समान की रक्षा के लिए आपको होम इंश्योरेंस जरूर कराना चाहिए. क्योंकि कई बार दुर्घटना के चलते लोगों को बड़ा नुकसान हो जाता है. इसके अलावा कई स्थानों पर प्राकृतिक आपदाओं और आग लगने की संभावना ज़्यादा होती है वहां तो आपको होम इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने की सलाह जरूर दी जाती है.

होम इंश्योरेंस पॉलिसी आपकी प्रॉपर्टी की सुरक्षा करती है. मकान के स्ट्रक्चर से लेकर इसकी चीज़ों के लिए कवरेज दिलाता है. बाढ़, चोरी, आग आदि जैसी दुखद स्थितियों की वजह से होने वाले फाइनेंशियल खर्चों से आपको बचा सकता है. यहां हम आपको बाजार में उपलब्ध विभिन्न प्रकार की होम इंश्योरेंस पॉलिसियों के बारे में बता रहे हैं.

ये भी पढ़ें: सरकार का बड़ा फैसला! Coal India समेत इन कंपनियों में बेचेगी अपनी हिस्सेदारी, तैयार की लिस्ट

व्यापक सुरक्षा: होम इंश्योरेंस न केवल अपने घर के ढांचा का बीमा करता है बल्कि अपने घर के अन्य विस्तार जैसे गैरेज, शेड और परिसर का भी बीमा करता है. वहीं प्लान में ऐड-ऑन लेने के बाद फर्नीचर, इलेक्ट्रॉनिक्स और घरेलू उपकरणों की सुरक्षा भी इसमें होती है.

घर की सामग्री का बीमा: घर में रखी चीजों के नुकसान या क्षति की स्थिति में, पॉलिसी पॉलिसीधारक को बाजार मूल्य के आधार पर राशि की प्रतिपूर्ति करती है – उदाहरण के लिए गहने, इलेक्ट्रॉनिक्स, आदि.

READ More...  PNB ने एफडी पर बढ़ाई ब्याज दरें, आम नागरिक को मिलेगा 3.50% से 6.10% इंटेरेस्ट वहीं वरिष्ठ नागरिक को 7.80%

स्ट्रक्चर इंश्योरेंस: यह स्ट्रक्चरल डैमेज से होने वाले नुकसान से घर की सुरक्षा करता है. यह डकैती, चोरी, आतंकवादी हमलों से भी बचाता है. इसके अलावा छत, रसोई और बाथरूम की फिटिंग आदि को होने वाले किसी भी नुकसान को भी कवर करता है.

ये भी पढ़ें: PNB Share Price : 21 महीनों के हाई पर स्टॉक, जानिए क्यों इतना भाग रहा है ये शेयर

मकान मालिक का बीमा: यह कवर मकान मालिकों के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि यह उन्हें विशेष रूप से किराए के नुकसान के खिलाफ बीमा कराने का अधिकार देता है.

किरायेदार बीमा: किरायेदार इस पॉलिसी को किराए के घर में रखे गहने, फर्नीचर, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और कपड़े जैसे व्यक्तिगत सामान का बीमा करने के लिए खरीद सकते हैं.

अग्नि बीमा: यह आपके घर को आकस्मिक आग और शॉर्ट सर्किट से बचाता है.

सार्वजनिक देयता बीमा: यह अप्रत्याशित दुर्घटनाओं के कारण होने वाले खर्चों की भरपाई करता है, जैसे कि पेड़ गिरना या तीसरे पक्ष को होने वाला नुकसान.

चोरी का बीमा: यह पॉलिसी आपके घर से चोरी हुए क़ीमती सामान की लागत की प्रतिपूर्ति करती है.

ये भी पढ़ें: छंटनी पर Amazon की सफाई, श्रम मंत्रालय से कहा- कर्मचारियों ने मर्जी से दिए इस्तीफे, नौकरी से नहीं निकाला

इन बातों पर निर्भर करता है कवर
कई बार आपकी प्रॉपर्टी कहां पर स्थित है, यह भी आपके कवरेज के प्रकार को प्रभावित करता है. उदाहरण के लिए यदि आपका घर समुद्र के नजदीक है, तो बीमा पॉलिसी पहले से ही इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को कवर करती है. इसी तरह यदि घर भूकंप, बाढ़ या ज्वालामुखी जैसी आपदा संभावित क्षेत्र में स्थित है, तो आपके Home Insurance कवर में स्ट्रक्चर के साथ ही कंटेंट डैमेज को भी शामिल किया जाएगा.

READ More...  अपडेट होने से पहले महंगी हुई इनोवा और फॉर्च्युनर, अब कितनी हुई कीमत ?

Tags: Business news in hindi, Home loan EMI, Insurance, Insurance Company, Taking a home loan

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)