- India TV Hindi
आंध्र प्रदेश में प्राचीन मंदिरों पर हमले, राम की 400 साल पुरानी मूर्ति तोड़ने के बाद अब खंडित की सीता की प्रतिमा

आन्ध्र प्रदेश में मंदिरों और मूर्तियों पर हमले का सिलसिला जारी है। ताजा घटना में सोमवार को विजयवाड़ा के सीता मंदिर की है। यहां माँ सीता की प्राचीन मूर्ति खण्डित स्थिति में मिली। इससे पहले 28 दिसम्बर को विजयनगरम जिले के राम तीर्थम पहाड़ी में मौजूद 400 साल पुराने कोदण्ड राम मंदिर में भगवान राम की मूल मूर्ति को खण्डित कर दिया गया था जिसके बाद पूरे राज्य में मंदिरों पर हमले को लेकर आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया।

मुख्य विपक्षी दल TDP और BJP ने सत्तारूढ़ YSR कांग्रेस की सरकार की उदासीनता को इन घटनाओं के लिए जिम्मेदार बताया है, संघ परिवार से जुड़े संगठनों ने यहां तक कह दिया कि चूंकि आन्ध्र प्रदेश के CM दूसरे धर्म का अनुपालन करते हैं इसीलिए वे हिन्दू मंदिरों पर होने वाले हमलों को लेकर चुप हैं। 

आंध्र प्रदेश में प्राचीन मंदिरों पर हमले

Image Source : INDIATV

आंध्र प्रदेश में प्राचीन मंदिरों पर हमले, राम की 400 साल पुरानी मूर्ति तोड़ने के बाद अब खंडित की सीता की प्रतिमा

सीएम ने लगाया राजनीति का आरोप

सोमवार को वार्षिक पुलिस मीट के उद्घाटन कार्यक्रम में CM जगन मोहन रेड्डी ने इन हमलों को लेकर पहली बार कोई प्रतिक्रिया दी। उन्होंने आरोप लगाया कि एक सोची समझी साजिश के तहत कुछ लोग और राजनैतिक दल सरकार की छवि खराब करने के मकसद से इन घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं, जगन ने यहाँ तक कह दिया कि राजनैतिक रोटियां सेंकने के लिए इन लोगों ने मंदिरों और देवताओं को भी नहीं छोड़ा। CM जगन मोहन रेड्डी ने तकरीबन 15 मिनिट इस विषय पर अपनी बात रखी और कई ऐसी मिसाल दी कि जिस दिन सरकार की ओर से जन कल्याण से जुड़ी किसी योजना की घोषणा प्रस्तावित की गई थी उससे ठीक 1 या 2 दिन पहले मंदिरों में हमले की घटनाएं घटीं, जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि कुछ दल राजनीतिक लाभ के लिए धर्म की आड़ में सरकार पर छिपकर हमला कर रहे हैं ऐसी ताकतों का सामना करना जरुरी है, 

READ More...  शशि थरूर और वरिष्ठ पत्रकारों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द की जाए: कांग्रेस

TDP और BJP का विरोध प्रदर्शन

आंध्र सरकार ने कोदण्ड राम मंदिर में हुई घटना के CID जाँच के आदेश दिये हैं। 

लेकिन मुख्य विपक्षी पार्टी TDP ने इसे बड़ा मुद्दा बनाया है, पार्टी के कार्यकर्ता पूरे राज्य में ऐसी घटनाओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, पार्टी के मुखिया और पूर्व CM चंद्र बाबू नायडू ने राम तीर्थम जाकर कोदण्ड राम मंदिर का दौरा किया और एक के बाद एक कई ट्वीट कर जगन मोहन रेड्डी की सरकार पर हमला किया वहीं BJP ने भी इस विषय पर अपने तेवर सख्त कर लिए हैं, आज TDP ने मंदिरों पर हो रहे हमले के विरोध में चलो राम तीर्थम का कार्यक्रम रखा था लेकिन आंध्र प्रदेश पुलिस ने BJP के सभी बड़े नेताओं को हाउस अरेस्ट कर लिया, प्रदेश BJP अध्यक्ष सोमू वीरा राजू को हाउस अरेस्ट किया गया, जिसके बाद उनके घर के बाहर BJP कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। 

पुलिस ने चस्पा किये नोटिस 

विरोध प्रदर्शन को देखते हुए विजयवाड़ा, विजयनगरम, गुंटूर शहर में पुलिस ने BJP नेताओं के घर के बाहर नोटिस चस्पा कर दिया और किसी भी नेता को प्रदर्शन में शामिल होने के लिए घर से बाहर निकलने नहीं दिया गया। BJP और संघ परिवार के संगठन आरोप लगा रहे हैं कि आंध्रप्रदेश में जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली YSR कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से लेकर अब तक सैंकड़ों छोटे बड़े हिन्दू मंदिरों पर हमले हो रहे हैं और जगन मोहन रेड्डी कुछ भी कार्यवायी नहीं कर रहे हैं। जाहिर है मामला संवेदनशील है, सूबे की सरकार से उम्मीद की जानी चाहिए कि ऐसे मामलों को काफी गम्भीरता से लेते हुए इनकी तत्काल प्रभाव से जाँच होनी चाहिए लेकिन जगन मोहन रेड्डी ने जो ढिलाई बरती उससे विपक्षी दलों को उन पर और उनकी सरकार पर हमला करने का मौका दे दिया है।

READ More...  Haryana No Confidence Motion: गिर गया खट्टर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

Original Source(india TV, All rights reserve)