e0a486e0a49c e0a487e0a4a4e0a4bfe0a4b9e0a4bee0a4b8 e0a4b0e0a49ae0a587e0a497e0a4be e0a49ce0a4bee0a4aae0a4bee0a4a8 e0a485e0a482e0a4a4
e0a486e0a49c e0a487e0a4a4e0a4bfe0a4b9e0a4bee0a4b8 e0a4b0e0a49ae0a587e0a497e0a4be e0a49ce0a4bee0a4aae0a4bee0a4a8 e0a485e0a482e0a4a4 1

हाइलाइट्स

जापान आज दुनिया का सबसे मून लैंडर ‘OMOTENASHI’ अंतरिक्ष में भेजने जा रहा है.
जापान सबसे छोटा मून लैंडर आज दोपहर एक अमेरिकी रॉकेट द्वारा लॉन्च करेगा.
इसका उद्देश्य पहली बार चंद्रमा की सतह पर इस तरह के एक क्राफ्ट को सफलतापूर्वक सॉफ्ट-लैंड कराना है.

टोक्यो. जापान आज दुनिया का सबसे छोटा मून लैंडर ‘OMOTENASHI’ अंतरिक्ष में भेजने जा रहा है. जापान की अंतरिक्ष एजेंसी ने मंगलवार को कहा कि वह दुनिया का सबसे छोटा मून लैंडर बुधवार दोपहर एक अमेरिकी रॉकेट द्वारा लॉन्च करेगा. इसका उद्देश्य पहली बार चंद्रमा की सतह पर इस तरह के एक क्राफ्ट को सफलतापूर्वक सॉफ्ट-लैंड करना है. जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी (JAXA) के अनुसार अमेरिका के नेतृत्व वाले आर्टेमिस I मिशन में बोर्ड पर क्यूबसैट एक जापानी नैनोसैटेलाइट इक्वेलस के साथ गहरे अंतरिक्ष की यात्रा करेगा.

क्योडो न्यूज के अनुसार 11 सेंटीमीटर लंबे, 24 सेंटीमीटर चौड़े और 37 सेंटीमीटर ऊंचे OMOTENASHI 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चंद्रमा की सतह पर उतरने के लिए तैयार है. जबकि शॉक एब्जॉर्बर और रेजिन नैनोसेटेलाइट की रक्षा करेंगे. JAXA का अनुमान है कि 60 प्रतिशत संभावना है कि यह चंद्रमा के सतह पर पहुंचने के बाद पृथ्वी तक पहुंचने वाली रेडियो तरंगों को सफलतापूर्वक प्रसारित करेगा.

OMOTENASHI नैनो सेमी-हार्ड इम्पैक्टर द्वारा प्रदर्शित चंद्रमा पर खोज की टॉप तकनीक है और यह आर्टेमिस I के दूसरे पेलोड में से एक है. आर्टेमिस I, यूएस नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा विकसित स्पेस लॉन्च सिस्टम रॉकेट की यह पहली उड़ान है.

Explainer : बार-बार झटके किसी बड़े भूकंप का इशारा है या खतरा टल जाने का

READ More...  2 महिलाओं ने निकाली शी जिनपिंग की हेकड़ी! नैंसी से बोलीं ताइवान की राष्ट्रपति, झुकेगा नहीं...

मूल रूप से अगस्त के लिए निर्धारित इस अंतरिक्ष रॉकेट की पहली उड़ान को इंजन सेंसर की विफलताओं और बार-बार ईंधन रिसाव के चलते स्थगित कर दिया गया था.

Tags: Japan, Space news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)