inzamam ul haq pakistan

नई दिल्ली. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम-उल-हक (Inzamam Ul Haq) ने भारत की जबरदस्त बेंच स्ट्रेंथ की तारीफ की है. उन्होंने कहा है कि जब प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के एक बड़े पूल को इकट्ठा करने की बात आती है तो वे 90 और 2000 के दशक से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम (Australia Cricket Team) को पछाड़ने में कामयाब रहे हैं. भारतीय टीम (Indian Cricket Team) 18 जून से शुरू होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के फाइनल में न्यूजीलैंड से खेलने के लिए यूनाइटेड किंगडम की यात्रा पर जाएगी. जिसके बाद टीम इंग्लैंड के खिलाफ अगस्त के पहले हफ्ते में पांच टेस्ट मैचों की सीरीज भी खेलेगी. हालांकि, जुलाई के महीने में भारत श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे और तीन टी20 मैच (India vs Sri Lanka) खेलेगा, जबकि उसके सभी बडे़ खिलाड़ी इंग्लैंड में होंगे. ऐसे में श्रीलंका का दौरा करने के लिए दूसरा दस्ता जाएगा. युवा और अनुभवी भारतीय खिलाड़ियों की इस विशाल प्रतिभाशाली टीम ने इंजमाम को पूरी तरह से हैरान कर दिया है. उन्होंने कहा कि जब युवा और आने वाले क्रिकेटरों का निर्माण करने की बात आती है तो भारत का स्टॉक कितना समृद्ध है. अपने यूट्यूब चैनल ‘द मैच विनर’ पर इंजमाम उल हक ने कहा, ”दूसरी भारतीय टीम को इकट्ठा करने का यह विचार बहुत दिलचस्प है, जो भारत आज करने की कोशिश कर रहा है. ऑस्ट्रेलिया ऐसा सालों पहले कर चुकी है, लेकिन वह इसमें सफल नहीं हुए थे.” श्रीलंका दौरे के लिए शिखर धवन कप्तान, दो भाइयों की जोड़ी को भी मौका: रिपोर्ट इंजमाम उल हक ने कहा, ”लेकिन आज का परिदृश्य ऐसा है कि भारत इसे आगे बढ़ा रहा है. पहली बार मुझे लगता है कि ऐसा हो रहा है कि एक राष्ट्रीय क्रिकेट टीम दो अलग-अलग सीरीज खेल रही होगी. एक तरफ एक देश में और दूसरी तरफ किसी दूसरे देश में और दोनों ही राष्ट्रीय टीमें होंगी.”पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने आगे कहा, ”जब ऑस्ट्रेलिया अपने चरम पर था. 1995 से 2005-2010 के बीच, उन्होंने ऑस्ट्रेलिया ए और ऑस्ट्रेलिया बी नाम की दो अंतरराष्ट्रीय टीमों को अलग करने की कोशिश की थी, लेकिन उन्हें इसकी इजाजत नहीं मिली थी. भारत वो कर रहा है, जो ऑस्ट्रेलिया भी अपने चरम पर नहीं कर सका. और आज प्रोटोकॉल और बाकी सब परिस्थितियों को देखते हुए यह कदम समझ में आता है. और इतने अंतराल में एक ही टीम को दोनों देशों में भेजना संभव नहीं हो सकता था.” रोहित शर्मा, विराट कोहली, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह जैसे बड़े खिलाड़ी इंग्लैंड जाएंगे. वहीं, पृथ्वी शॉ, शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार, दीपक चाहर और दूसरे बड़े खिलाड़ी लिमिटेड ओवर्स की सीरीज के लिए श्रीलंका की फ्लाइट पकड़ेंगे. अगर इंजमाम की माने तो भारत की संभावित दूसरी पंक्ति की टीम उतनी ही मजबूत दिखाई देती है, जितनी इंग्लैंड जाने वाली टीम होगी. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने भारत के घरेलू क्रिकेट ढांचे और आईपीएल को भारत के समृद्ध संसाधनों के लिए श्रेय दिया है. राहुल द्रविड़ श्रीलंका दौरे पर टीम इंडिया के होंगे कोच, सात साल बाद भारतीय टीम से जुड़ेंगे इंजमाम ने कहा, ”भारत के पास इस समय इतनी ताकत है कि वह ऐसा करने में सक्षम है. उनके खिलाड़ियों का पूल इतना बड़ा है कि वे इसे मैनेज करने में सक्षम हैं. यदि आप उन खिलाड़ियों को देखें जो श्रीलंका की यात्रा करेंगे, ऐसा लगेगा कि यह भारत की मुख्य टीम है. ऐसी है उनकी बेंच स्ट्रेंथ.” उन्होंने आगे कहा, ”भारत ने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सुधार किया है और फिर आईपीएल भी है, जिसने एक ही समय में दो अलग-अलग टीमों को बनाने में मदद की है. यह लगभग ऐसा है जैसे भारत ने 50 लड़कों को तैयार किया है, जो राष्ट्रीय टीम के लिए खेलने के लिए तैयार हैं.”
Original Source(News18, All rights reserve)