e0a487e0a49fe0a4bee0a4b5e0a4be e0a4aae0a581e0a4b2e0a4bfe0a4b8 e0a495e0a580 e0a4a6e0a4b0e0a4bfe0a4afe0a4bee0a4a6e0a4bfe0a4b2e0a580
e0a487e0a49fe0a4bee0a4b5e0a4be e0a4aae0a581e0a4b2e0a4bfe0a4b8 e0a495e0a580 e0a4a6e0a4b0e0a4bfe0a4afe0a4bee0a4a6e0a4bfe0a4b2e0a580 1

इटावा. यूपी की इटावा पुलिस का एक अलग अंदाज नजर आया है. दरअसल पुलिस दो मासूमों की मददगार बनी है, जिसकी हर ओर तारीफ हो रही है. जानकारी के मुताबिक, पिता की मौत और मां की जुदाई से अनाथ हुए दो मासूमों के लिए इटावा पुलिस मददगार बनकर सामने आई है. मार्मिकता की कहानी बयान करने वाला यह मामला इटावा जिले के बसरेहर इलाके के अमृतपुर गांव का है, जहां एक व्‍यक्ति की छह महीने पहले मौत हो गई थी. इसके बाद मां भी दोनों बच्चों को छोड़ कर कहीं चली गई.

इस बीच दोनों मासूम बच्चे पिता के गम और मां की जुदाई में भटकते हुए किसी तरह से बसरहेर पुलिस थाने जा पहुंचे. इस दौरान दोनों भाईयों के शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था. वहीं, डयूटी पर तैनात सब इंस्पेक्टर नीरज शर्मा ने दोनों मासूमों को पहले तो खाना खिलाया और फिर उन्‍हें नये कपड़े दिलवाए. इसके साथ दोनों को उनकी मां से जल्द मिलवाने का भरोसा दिया है.

जानें क्‍या है पूरा मामला
इटावा जिले के बसरेहर इलाके के अमृतरपुर गांव के रहने वाले सफीक मोहम्मद की छह महीने पहले मृत्यु हो गई थी. इसके बाद उसके दोनों पुत्रों दस वर्षीय साहिल और आठ वर्षीय सोहिल की देखरेख उनकी मां रबीना बेगम कर रही थी, लेकिन चार दिन पहले अचानक से वह दोनों बच्चों को घर पर छोड़कर कहीं चली गई. चार दिन से परेशान दोनों मासूम बच्चे भूख प्यास अपनी मां का इंतजार करते रहे, लेकिन वह वापस घर नहीं लौटी. हैरानी की बात है कि इस दौरान परिवार के लोगों ने दोनों बच्चों की कोई देखरेख नहीं की. इस पर दोनों बच्चे साहिल और सोहिल अपनी बुआ हसीना बेगम के साथ रोते-बिलखते हुए सुबह थाने पहुंचे. इस दौरान सब इंस्‍पेक्‍टर नीरज शर्मा के सामने जब दोनों बच्चों ने रोते हुए अपनी मां को वापस घर लाने की बात कही तो उनका दिल पसीज गया. सबसे पहले उन्‍होंने बच्‍चों को खाना मंगवाकर खिलाया. इसके बाद वह दोनों बच्चों को अपने साथ बाजार लेकर गए और नये कपडे व जूते दिलवाए. वहीं, पुलिस जवान ने दोनों बच्चों को जल्द उनकी मां से मिलाने का भरोसा भी दिलाया. इस पर दोनों बच्चों के चेहरे पर मुस्कान लौट आयी.

READ More...  LIVE: बीमारियों से जंग, योग गुरु रामदेव के संग

इटावा के एसएसपी जयप्रकाश सिंह ने बताया कि बसरेहर पुलिस के पास दो मासूम भाई रोते बिलखते हुए पहुंचे थे, जहां ऑन डयूटी पुलिस सब इंस्पेक्टर नीरज शर्मा ने पुलिस दायित्वों का पालन करते हुए बच्चों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया. वहीं, सब इंस्पेक्टर की हर तरफ तारीफ हो रही है.

Tags: Etawah news, Etawah Police, Positive Story

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)