e0a487e0a4a8 e0a4b0e0a4bee0a49ce0a58de0a4afe0a58be0a482 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ace0a4bee0a4b0e0a4bfe0a4b6 e0a495e0a580 e0a4b8e0a482
e0a487e0a4a8 e0a4b0e0a4bee0a49ce0a58de0a4afe0a58be0a482 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ace0a4bee0a4b0e0a4bfe0a4b6 e0a495e0a580 e0a4b8e0a482 1

हाइलाइट्स

आपदा प्रबंधन निदेशालय ने 15-16 नवंबर को अंडमान निकोबार द्वीप समूह में बारिश की चेतावनी जारी की है.
एनडीआरएफ, भारतीय तटरक्षक (आईसीजी), नौसेना की सभी इकाइयां हाई अलर्ट पर.
कोलकाता, दिल्ली, विशाखापत्तनम और चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर के लिए उड़ान सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं.

पोर्ट ब्लेयर. आपदा प्रबंधन निदेशालय ने 15-16 नवंबर को अंडमान निकोबार द्वीप समूह में कुछ स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), भारतीय तटरक्षक (आईसीजी), नौसेना की सभी इकाइयों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. विभाग ने कहा कि रविवार से अगले पांच दिनों के लिए अलर्ट जारी किया गया है, लेकिन 15 और 16 नवंबर को पोर्ट ब्लेयर, कैंपबेल बे, कमोर्टा और डिगलीपुर सहित द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में बारिश का अनुमान है.

आपदा प्रबंधन निदेशालय के एक बयान में कहा गया, ‘खराब मौसम के कारण, अंडमान सागर के ऊपर 45 किमी प्रति घंटे से अधिक की गति से हवा चलने का अनुमान है. मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे आने वाले कुछ दिनों में समुद्र की तरफ ना जाएं.’ इस बीच, पर्यटकों को घरों के अंदर रहने और कोर्बिन कोव, स्वराज, एलीफेंटा, कॉलिनपुर समुद्र तटों, शहीद द्वीप और वंदूर में समुद्र की तरफ नहीं जाने को कहा गया.

बयान में कहा गया है कि खराब मौसम के कारण कोलकाता, दिल्ली, विशाखापत्तनम और चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर के लिए उड़ान सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं और यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे यात्रा की व्यवस्था करने से पहले जानकारी जुटा लें. स्काईमेट वेदर रिपोर्ट के मुताबिक केरल और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है.

READ More...  अग्निपथ योजना: केंद्र व राज्य सरकारों ने 'अग्निवीरों' के लिए की अहम घोषणाएं, नौकरी में आरक्षण समेत मिलेंगे ये लाभ

इसके अलावा तटीय कर्नाटक में एक या दो जगहों पर मध्यम बारिश की संभावना है. जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और लद्दाख क्षेत्र में कुछ क्षेत्रों में बर्फ के साथ हल्की मध्यम बारिश हो सकती है. उत्तर पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में दिन और रात के तापमान में और भी गिरावट आ सकती है.

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)