e0a487e0a4afe0a4bee0a4a8 e0a49ae0a588e0a4aae0a4b2 e0a4a8e0a587 e0a495e0a58de0a4b0e0a4bfe0a495e0a587e0a49f e0a4aae0a58de0a4b0e0a4b6
e0a487e0a4afe0a4bee0a4a8 e0a49ae0a588e0a4aae0a4b2 e0a4a8e0a587 e0a495e0a58de0a4b0e0a4bfe0a495e0a587e0a49f e0a4aae0a58de0a4b0e0a4b6 1

नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के खिलाफ नॉटिंघम टेस्ट मैच में इंग्लैंड के बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो ने अंतिम दिन चमत्कारी पारी खेलकर इंग्लैंड को जीत दिलाई. इससे बेन स्टोक्स के उन विचारों की पुष्टि हुई जो उन्होंने कप्तानी को लेकर कहे थे. बेन स्टोक्स ने कहा था, ‘इंग्लैंड को और अधिक आक्रामक होने की जरूरत है.’ जो रूट के संदेहपूर्ण नेतृत्व के तहत तकनीकी विफलता जितनी अधिक थी यह टीम का उतना ही सकारात्मक रवैया था. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर इयान चैपल का मानना है कि क्रिकेट प्रशासक टेस्ट क्रिकेट को हाशिए पर धकेलने पर तुले हैं.

इयान चैपल ने ईएसपीएनक्रिकइंफो के कॉलम में लिखा, ‘इस महीने की शुरुआत में एक इंटरव्यू के दौरान जब आईसीसी के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले से दुनियाभर में टी20 क्रिकेट के तेजी से विस्तार के बारे में पूछा गया तो उन्होंन कहा, ‘हम बहुत कुछ नहीं कर सकते हैं.’ उनके इस बयान से टेस्ट क्रिकेट के प्रति उनकी उदासीनता जाहिर होती है. इयान चैपल ने टी20 क्रिकेट को हमेशा टेस्ट के लिए खतरा माना है. बार्कले ने भी कहा, ‘टी20 की लोकप्रियता के कारण द्विपक्षीय क्रिकेट को नुकसान होगा. यदि टी 20 क्रिकेट समृद्ध होता है, तो प्रशासकों के अनुसार यह खेल के लंबे प्रारूप को भुगतना होगा.’

मेग लैनिंग की आलोचना

जब ऑस्ट्रेलिया महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मेग लैनिंग ने बार्कले के बयान का खंडन किया तो उन्होंने कहा, ‘हम महत्वाकांक्षी होना चाहते हैं. क्रिकेट प्रशासन कुछ भी हो लेकिन महत्वाकांक्षी हो. वे धीरे-धीरे पैसे का अनुशरण करते हैं और अक्सर ऐसे कदमों से दूर रहते हैं जो खेल के सर्वोत्तम हित के लिए उठाए जा सकते हैं.’

READ More...  'हम रहें या ना रहें, याद आएंगे ये पल...' गायक केके के निधन पर KKR टीम और सहवाग ने जताया दुख

चैपल का मानना है, ‘क्रिकेट के प्रशासकों को बहुत पहले एक समावेशी बहस का आयोजन करना चाहिए था. ताकि टेस्ट के भविष्य के लिए योजना बनाई जा सके. खेल हमेशा मौजूदा खिलाड़ियों और प्रशंसकों पर निर्भर करता है न कि वैराइटी पर. अगर टेस्ट क्रिकेट के आधुनिक संस्करण में मनोरंजन के लिए खेल के दिनों को कम करना और अधिक आक्रामक दृष्टिकोण शामिल है तो पुराने लोगों को इसका रोना नहीं रोना चाहिए.’

टेस्ट क्रिकेट को सीमित किया

इसके परिणामस्वरूप प्रशासकों ने अधिक से अधिक टी20 क्रिकेट की प्रोग्रामिंग की है. टेस्ट क्रिकेट को सीमित किया है. हालांकि कई युवा क्रिकेटरों ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि टेस्ट क्रिकेट ही बेस्ट है. कई खिलाड़ी बड़े फॉर्मेट में बेहतरीन मनोरंजन कर रहे हैं. इसके बावजूद उसे सीमित किया गया है. चैपल का कहना है ‘टेस्ट और 50 ओवर की क्रिकेट दोनों ही बहुत अच्छे फॉर्मेट हैं. अगर उन्हें अच्छी तरह से खेला जाए तो मनोरंजक हैं.’

यह भी पढ़ें

जहीर खान ने बताया किस नंबर पर बैटिंग करें पंड्या, बोले-द्रविड़ होंगे बहुत खुश

IND vs SA: टीम इंडिया के ‘ब्रह्मास्त्र’ से पांचवें टी20 में होगा अफ्रीका का खेल खत्म! 54 गेंदों में छुपा है राज

नतीजन टी20 क्रिकेट अधिक हो रही है. बेहतर बल्ले और छोटी बाउंड्री के साथ शक्ति पर जोर है. ऐसी स्थिति में अक्सर गेंदबाजों के बारे में सोचा जाता है. लेकिन इसकी असल वजह क्या है यह पता लगाने के लिए छोड़ दिया जाता है. यदि बार्कले जैसे लोग अपने रास्ते में सफल होते हैं तो टी20 क्रिकेट को और अधिक विस्तार मिलेगा. यदि ऐसा होता है तो इसका मतलब होगा कि युवा खिलाड़ियों को एक ऐसी तकनीक चुनने के लिए मजबूर किया जाएगा जो एक अच्छे खेल के बजाय आर्कषक टी20 अनुबंध प्रदान करती हो.

READ More...  IND vs ENG: टीम इंडिया ने इंग्लैंड में शुरू की प्रैक्टिस, जानिए रोहित शर्मा टीम से जुड़े या नहीं?

Tags: Ian Chappell, ICC, Test cricket

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)