e0a487e0a4b8 e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a495e0a587 e0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a4aae0a4a4e0a4bf e0a495e0a4be e0a4aae0a588
e0a487e0a4b8 e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a495e0a587 e0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a4aae0a4a4e0a4bf e0a495e0a4be e0a4aae0a588 1

हाइलाइट्स

सूडान में राष्ट्रपति के एक वीडियो वायरल होने के बाद 6 पत्रकारों को हिरासत में लिया गया है.
वायरल वीडियो में राष्ट्रपति की पैंट पर एक काला धब्बा फैलता देखा गया.
सूडान राष्ट्रपति सलवा कीर 71 साल के हैं.

खार्तूम. उत्तरी अफ्रीकी देश दक्षिणी सूडान (South Sudan) में एक वीडियो के सामने आने के बाद यहां छह पत्रकारों को हिरासत में लिया गया है. दरअसल एक वीडियो में दक्षिणी सूडान के राष्ट्रपति पैंट में पेशाब करते नजर आ रहे हैं. दिसंबर में एक इवेंट में नेशनल एंथम के दौरान राष्ट्रपति सलवा कीर (South Sudan President Salva Kiir) की ग्रे पैंट पर एक काला धब्बा फैलता देखा गया और फर्श पर एक बड़ा गीला निशान (South Sudan President Pee) बन गया था.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, 71 वर्षीय राष्ट्रपति रोड कमीशनिंग कार्यक्रम में राष्ट्रगान के लिए खड़े थे. हालांकि यह वीडियो टेलीविजन पर कभी प्रसारित नहीं हुआ, लेकिन बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. साउथ सूडान यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के अध्यक्ष पैट्रिक ओयेट ने कहा कि सरकारी दक्षिण सूडान ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन के साथ काम करने वाले पत्रकारों को मंगलवार और बुधवार को हिरासत में लिया गया है.

पढ़ें- ‘पहली बार पब के पीछे खुले में…’ प्रिंस हैरी की आत्मकथा हुई लीक, ब्रिटिश शाही घराने के कई राज जगजाहिर

उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात का संदेह है कि राष्ट्रपति के पेशाब करने का वीडियो कैसे सामने आया है. उन्होंने पत्रकारों के नाम कैमरामैन जोसेफ ओलिवर और मुस्तफा उस्मान, वीडियो एडिटर विक्टर लाडो, कंट्रीब्यूटर जैकब बेंजामिन और चेरबेक रूबेन और जोवल टूम्बे बताया है.

READ More...  मारियुपोल में हर बिल्डिंग से निकाले जा रहे 50-100 शव, पढ़ें यूक्रेन जंग के अपडेट्स

” isDesktop=”true” id=”5185213″ >

मालूम हो कि साल 2011 से दक्षिण सूडान को स्वतंत्रता मिलने के बाद से सलवा कीर राष्ट्रपति हैं. सरकारी अधिकारियों ने सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों का बार-बार खंडन किया है कि वह अस्वस्थ हैं. गौरतलब है कि पिछले एक दशक से देश संघर्ष में उलझा हुआ है. पैट्रिक ओयेट ने आगे कहा है कि हम सब चिंतित हैं क्योंकि जिन्हें गिरफ्तार किया गया है उन्हें लंबे समय तक हिरासत में रखा जा सकता है. दक्षिणी सूडान का कानून कहता है कि जज के सामने पेश होने से पहले लोगों को अधिकतम 24 घंटे तक हिरासत में रखा जाता है.

Tags: World news, World news in hindi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)