e0a487e0a4b8 e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4a6e0a581e0a4a8e0a4bfe0a4afe0a4be e0a495e0a587 e0a49fe0a589e0a4aa 500 e0a485e0a4aee0a580e0a4b0e0a58b
e0a487e0a4b8 e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4a6e0a581e0a4a8e0a4bfe0a4afe0a4be e0a495e0a587 e0a49fe0a589e0a4aa 500 e0a485e0a4aee0a580e0a4b0e0a58b 1

मुंबई . इस साल का अब तक का समय दुनिया भर के अमीरों के लिए भारी बीता है. शेयर मार्केट में गिरावट के चलते उनकी संपत्ति में बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है. Bloomberg Billionaires Index के मुताबिक दुनिया के 500 अमीरों की संपत्ति इस साल 109.27 लाख करोड़ रुपए ( $1.4 trillion) घट गई है. इस नुकसान में सोमवार को अकेले 206 अरब डॉलर डूबे हैं.

ऊंची ब्याज दर और महंगाई की वजह से दुनियाभर के शेयर मार्केट में जो भारी गिरावट आई है ये उसी का नतीजा है. मंगलवार को जारी कैपजेमिनी वर्ल्ड वेल्थ रिपोर्ट के अनुसार, यह ट्रेंड पिछले साल के विपरीत है. पिछले साल शेयर बाजार की तेजी ने दुनियाभर के अमीरों को और अमीर कर दिया था.

यह भी पढ़ें- इंवेस्टमेंट गुरू Jim Rogers ने क्यों कहा, यह अमेरिकी मार्केट की सबसे खराब मंदी हो सकती है?

बीते साल की तेजी ने दुनियाभर में अमीरों की आबादी को 8 प्रतिशत बढ़ा दिया. वहीं, उत्तरी अमेरिका में 13 फीसदी अमीरों की संख्या बढ़ी. आंकड़ों के मुताबिक, एशिया-प्रशांत में अमीरी में 4.2% की वृद्धि हुई.

टॉप-5 अमीरों ने 345 अरब डॉलर गंवाए
इस गिरावट में दुनिया के 5 शीर्ष अमीरों ने 345 अरब डॉलर से ज्यादा की वेल्थ गंवाई है. चाइनीज टेक कंपनी बाइनेंस के सीईओ चैंगपेंग ने सबसे ज्यादा नुकसान झेला है. चैंगपेंग झाओ ने 85.6 अरब डॉलर की संपत्ति गंवाई है. दूसरे नंबर पर एलन मस्क का नाम है जिन्होंने 73.2 अरब डॉलर गंवाए हैं. 65.3 अरब डॉलर के नुकसान के साथ जेफबेजोस तीसरे नंबर हैं. फेसबुक के जकरबर्ग 64.4 अरब डॉलर खोने के बाद चौथे स्थान पर हैं. 56.8 अरब डॉलर के नुकसान के साथ बर्नाड अर्नाल्ट पांचवे नंबर पर हैं.

READ More...  जेफरीज के क्रिस वुड के इक्विटी पोर्टफोलियो में बदलाव, HDFC बार, नए शेयर की एंट्री

यह भी पढ़ें- वारेन बफे बोले- निवेश की सलाह लेने के लिए एडवाइजरों से बेहतर हैं बंदर

क्रिप्टोकरेंसी से भी बड़ा नुकसान
चीन द्वारा टेक कंपनियों पर कार्रवाई और रियल एस्टेट मार्केट का ठंडा पड़ना इस गिरावट के मुख्य कारण रहे. साथ ही अमेरिकी मार्केट में बहुत ज्यादा तेजी और क्रिप्टोकरेंसी का डाउन होना भी बड़ी वजह रही. जहां पहले क्रिप्टोकरेंसी और शेयरमार्केट ने संपत्ति बढ़ाई अब वहीं इसके उलटा ट्रेंड चल रहा है. मुद्रास्फीति में तेजी आई है, जिससे इस बात पर चिंता जताई जा रही है कि फेडरल रिजर्व कितनी तेजी से ब्याज दरें बढ़ाएगा.

Tags: Elon Musk, Rich, Share market, World Richest Person

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)