e0a488e0a4b0e0a4bee0a4a8 e0a4a8e0a587 e0a4ace0a4a8e0a4bee0a4afe0a580 e0a4a6e0a581e0a4a8e0a4bfe0a4afe0a4be e0a495e0a580 e0a4b8e0a4ac
e0a488e0a4b0e0a4bee0a4a8 e0a4a8e0a587 e0a4ace0a4a8e0a4bee0a4afe0a580 e0a4a6e0a581e0a4a8e0a4bfe0a4afe0a4be e0a495e0a580 e0a4b8e0a4ac 1

Hypersonic Missile: ईरान ने दुनिया की सबसे खतरनाक हाइपरसोनिक मिसाइल तैयार कर ली है. दावा किया जा रहा है कि इसे कोई भी मौजूदा एंटी डिफेंस सिस्टम नहीं रोक सकता है. यानी इसकी रफ्तार ध्वनि की गति से पांच गुना ज्यादा होगी. साउंड एक किलोमीटर की रफ्तार 2.91 सेकेंड में तय करती है. यानी ये हाइपरसोनिक मिसाइल 1 सेकंड से भी कम समय में एक किलोमीटर की रफ्तार तय कर लेगी. ईरान रिवोल्युशनरी गार्ड के कमांडर आमिर अली हाजीजादेह ने ये जानकारी दी है.

गुरुवार को नए हथियार के बारे में बोलते हुए, जनरल हाजीजादेह ने कहा कि इस मिसाइल को रोकना किसी के लिए नाममुकिन होगा. उन्होंने कहा, ‘इस मिसाइल की गति तेज है और ये वातावरण के अंदर और बाहर दुश्मनों को चकमा दे सकती है. ये दुश्मन की उन्नत मिसाइल रोधी प्रणालियों यानी एंटी डिफेंस सिस्टम को निशाना बनाएगी.’

किन देशों के पास है ये खास मिसाइल?
बता दें कि अमेरिका, रूस और चीन हाइपरसोनिक मिसाइल पर काम कर रहे हैं. कहा जा रहा है कि रूस ने इस मिसाइल को तैयार कर लिया है. ईरान ने इसे बनाने के बारे में दुनिया को पहले कोई जानकारी नहीं दी थी. कहा जा रहा है कि चीन ने इस मिसाइल को पिछले साल टेस्ट किया था. जबकि अमेरिका भी टेस्टिंग फेज में पहुंच गया है. नॉर्थ कोरिया ने भी मिलिट्री परेड के दौरान हाइपरसोनिक मिसाइल होने का दावा किया था. लेकिन काम कर रही है या नहीं फिलहाल इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता. वहीं भारत, फ्रांस, जर्मनी, जापान और ऑस्ट्रेलिया भी हाइपरसोनिक हथियार विकसित कर रहे हैं.

READ More...  यूक्रेन से जंग के बीच राष्ट्रपति पुतिन का बड़ा कदम, सेना में करीब 1.5 लाख भर्तियों का दिया आदेश

ट्रंप के फैसले से हुआ ऐसा?
हाल के दिनों में ऐसे कोई संकेत नहीं मिले हैं कि ईरान ने कोई हाइपरसोनिक मिसाइल टेस्ट की है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि ईरान के परमाणु हथियार बनाने में सक्षम होने में एक वजह अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक फैसला भी है. दरअसल, ईरान को परमाणु बम बनाने से रोकने के लिए 2015 में बराक ओबामा के कार्यकाल के दौरान ईरान और अमेरिका के बीच एक न्यूक्लियर समझौता हुआ था. लेकिन साल 2018 में ट्रंप ने इस करार से अमेरिका को अलग कर लिया.

Tags: Iran, Missile, OMG News

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)