e0a48fe0a4a5e0a4b2e0a580e0a49f e0a490e0a4b6e0a58de0a4b5e0a4b0e0a58de0a4afe0a4be e0a4aee0a4bfe0a4b6e0a58de0a4b0e0a4be e0a4ace0a58b
e0a48fe0a4a5e0a4b2e0a580e0a49f e0a490e0a4b6e0a58de0a4b5e0a4b0e0a58de0a4afe0a4be e0a4aee0a4bfe0a4b6e0a58de0a4b0e0a4be e0a4ace0a58b 1

चेन्नई. महाराष्ट्र की एथलीट ऐश्वर्या मिश्रा ने जानबूझकर डोप टेस्ट एजेंसियों से बचने के आरोपों का खंडन किया है. अप्रैल में फेडरेशन कप में महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में चैंपियन बनने के बाद वह गायब हो गई थीं और उन पर डोप टेस्ट से बचने और एजेंसियों को गच्चा देने के आरोप लगे. अब उन्होंने सोमवार को कहा कि वह डोप टेस्ट से नहीं बच रही थीं बल्कि निजी दौरे पर उत्तर प्रदेश में थीं. उनके निजी कोच सुमित सिंह ने पिछले महीने कहा था कि ऐश्वर्या उत्तर प्रदेश के एक गांव में अपनी बीमार दादी की देखभाल कर रही थीं.

यह पूछे जाने पर कि क्या यह सच है कि वह डोप परीक्षण से बच रही थी, ऐश्वर्या ने कहा, ‘यह सच नहीं है, मैं उस समय उत्तर प्रदेश में थी. यहां तक ​​कि मेरे परिवार में भी कोई नहीं जानता था कि मैं कहां हूं.’ उन्होंने कहा कि वह इस मामले पर बाद में बात करेंगी.

इसे भी देखें, स्प्रिंटर हिमा दास 400 मीटर दौड़ में कब करेंगी वापसी? जानिए उन्हीं की जुबानी

ऐश्वर्या ने सोमवार की राष्ट्रीय अंतरराज्यीय सीनियर चैंपियनशिप में महिलाओं की 200 मीटर की तीसरी हीट 23.73 सेकेंड के समय के साथ जीतकर मंगलवार को होने वाले फाइनल के लिए क्वालिफाई किया. उन्होंने स्टार धाविका हिमा दास (24.40 सेकंड) से तेज समय निकाला. हिमा ने भी फाइनल के लिए क्वालिफाई किया.

पिछले महीने ऐश्वर्या ने डोप परीक्षण एजेंसियों को काफी परेशान किया था क्योंकि वे उनके ठिकाने का पता नहीं लगा पा रहे थे. अब चैंपियनशिप के दौरान उनका परीक्षण किया जा सकता है क्योंकि राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) की डोप परीक्षण टीम यहां है.

READ More...  क्रिकेट जगत के महान खिलाड़ी कहे जाने वाले, मोहम्मद शमी के समर्थन में सामने आए।

Tags: Athletics, Indian Athletes, Sports news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)