e0a493e0a4a1e0a4bfe0a4b6e0a4be e0a4b8e0a587e0a495e0a58de0a4b8e0a49fe0a589e0a4b0e0a58de0a4b6e0a4a8 e0a495e0a587e0a4b8
e0a493e0a4a1e0a4bfe0a4b6e0a4be e0a4b8e0a587e0a495e0a58de0a4b8e0a49fe0a589e0a4b0e0a58de0a4b6e0a4a8 e0a495e0a587e0a4b8 1

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को कहा कि उसने हाल में ओडिशा में सामने आए कथित ‘‘सेक्सटॉर्शन’’ गिरोह से जुड़ी धन शोधन जांच के संबंध में तलाशी के दौरान दोष साबित करने वाले अहम दस्तावेज, डिजिटल साक्ष्य और मोबाइल फोन जब्त किए हैं. यह कार्रवाई मुख्य आरोपी अर्चना नाग, उसके पति जगबंधु चंद, उनके कथित सहयोगी खगेश्वर पात्रा और नाग की सहयोगी श्रद्धांजलि बेहरा के खिलाफ 10 नवंबर को की गई थी. ईडी ने एक बयान में कहा कि राज्य में कुल सात परिसरों की तलाशी ली गई.

बयान में कहा गया है कि ईडी द्वारा अर्चना नाग और उसके सहयोगियों द्वारा प्रभावशाली और संपन्न व्यक्तियों को निशाना बनाने के लिए संचालित एक हाई-प्रोफाइल ‘सेक्सटॉर्शन’ गिरोह से सबंधित धन शोधन जांच के तहत छापे मारे गए थे. बयान के अनुसार ईडी ने हाल में पात्रा को गिरफ्तार किया और वह 21 नवंबर तक जांच एजेंसी की हिरासत में है.

ये भी पढ़ें- Varanasi: 50 दिन.. 3200 किलोमीटर.. नए साल से शुरू होगी दुनिया की सबसे बड़ी रिवर क्रूज यात्रा

बयान में कहा गया, ‘‘अर्चना नाग का करीबी सहयोगी पात्रा हाई-प्रोफाइल और अमीर लोगों को मोहपाश में फंसाकर गुप्त रूप से उनके अनुचित वीडियो बनाता था. पुलिस में फर्जी शिकायत दर्ज कराने की धमकी देते हुए उसने करोड़ों रुपये की उगाही की.’’ ईडी ने कहा कि ये वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी पोस्ट किए गए थे.

READ More...  दिवाली के जश्न में डूबा देश: भारत-पाक सरहद पर BSF तारबंदी पर रोशनी कर दे रही सुरक्षा का संदेश

Tags: Money Laundering Case, Odisha news, Sex Scandal, Sexual Harassment

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)