e0a495e0a482e0a49de0a4bee0a4b5e0a4b2e0a4be e0a495e0a4bee0a482e0a4a1 e0a495e0a580 e0a4aee0a583e0a4a4e0a495 e0a495e0a580 e0a495e0a4b9
e0a495e0a482e0a49de0a4bee0a4b5e0a4b2e0a4be e0a495e0a4bee0a482e0a4a1 e0a495e0a580 e0a4aee0a583e0a4a4e0a495 e0a495e0a580 e0a495e0a4b9 1

हाइलाइट्स

अंजलि की मौत ने न सिर्फ परिवार से उसकी सारी खुशियां छीन ली हैं बल्कि जीवन यापन का संकट भी खड़ा कर दिया
आर्थिक तंगी के कारण अंजलि को 10वीं कक्षा में स्कूल की पढाई छोड़नी पड़ी थी
मां ने कहा कि वह कहा करती थी कि जब तक उसके भाइयों को नौकरी नहीं मिल जाती, वह शादी नहीं करेगी

नई दिल्ली. दिल्ली की सड़कों पर दर्दनाक हादसे का शिकार हुई सपना (काल्पनिक नाम) पर अपने पांच भाई-बहनों की जिम्मेदारी थी. अपने परिवार में अकेली कमाने वाली 20 वर्षीय सपना किसी तरह अपने घर की खुशियों को पूरा करने में जुटी थी. परिवार के अनुसार जिम्मेदारियों के बावजूद वह बहुत खुशहाल लड़की थी. पंजाबी गानों को पसंद करने वाली सपना को इंस्टाग्राम रील्स बनाना और मेकअप करना भी बेहद पसंद था. हालांकि किसी ने कभी कल्पना भी नहीं की होगी कि उसे इतनी दर्दनाक मौत का सामना करना पड़ेगा. पुलिस के मुताबिक, सपना की स्कूटी को एक बलेनो ने टक्कर मार दी थी, जिसमें पांच युवक सवार थे.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, सपना की मौत ने न सिर्फ परिवार से उसकी सारी खुशियां छीन ली हैं, बल्कि उनके सामने जीवनयापन का संकट भी खड़ा कर दिया है. करीब आठ-नौ साल पहले सपना ने अपने पिता को खो दिया था और मां गुर्दे की समस्या से पीड़ित हैं. आर्थिक तंगी के कारण सपना को 10वीं कक्षा में स्कूल की पढाई छोड़नी पड़ी थी, ताकि वह परिवार को आर्थिक रूप से सहारा दे सके. सैलून में नौकरी करने के साथ ही शादियों में काम कर वह 500 से 1,000 रुपये कमाती थी. काम अक्सर देर से खत्म होता था और सपना के परिवार ने बताया कि वह उस रात वह ऐसे ही अपना काम ख़त्म कर घर लौट रही थी.

READ More...  हरियाणाः कुरुक्षेत्र हवेली में युवक के हाथ काटकर साथ लेकर गए दो आरोपी गिरफ्तार, 6 अन्य की तलाश

श्रद्धा-आफताब के ‘क्राइम पेट्रोल’ एपिसोड पर कटा बवाल; सोनी टीवी ने जोड़े हाथ, जानें पूरा मामला

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

बेटी को देख कर हुई बेहोश
कई किलोमीटर तक घसीटे जाने के बाद उसके शरीर की ऐसी हालत हो गई थी कि उसकी मां बेटी को देखते ही बेहोश हो गई थी. उसकी पीठ से चमड़ी निकल चुकी थी और कपड़े पूरी तरह से फटे हुए थे. युवती की मां ने कहा कि वह एक खूबसूरत बेटी थी. उन्होंने सवाल किया कि वे पांच आदमी उसे ऐसे कैसे छोड़ सकते हैं? उन्हें अभी भी शक है कि उनकी बेटी के साथ बलात्कार हुआ था.

सपना की मां ने बताया वह उनकी दूसरी बेटियों की तरह नहीं थी, जो काम नहीं करना चाहती थी. वह एक बहादुर लड़की थी. मां ने कहा कि वह कहा करती थी कि जब तक उसके भाइयों को नौकरी नहीं मिल जाती, वह शादी नहीं करेगी. उन्होंने आगे बताया कि वह पढ़ाई जारी रखना चाहती थी लेकिन मेरी और उसके तीन छोटे भाई-बहनों की मदद के लिए सपना एक छोटे ब्यूटी सैलून में काम करने लगी. बाद में, उसने शादियों में एक प्रवेशक के रूप में नौकरी पाई और महीने में 10,000-15,000 रुपये कमाती थी. परिवार ने कहा कि उसका मुख्य काम मेहमानों का स्वागत करना, फूलों की व्यवस्था करना और मेकअप और ड्रेसिंग में दुल्हन की मदद करना था. उसने अतिरिक्त पैसे कमाने के लिए छोटे सैलून में पार्ट-टाइम काम भी किया था, लेकिन महामारी के कारण हुए लॉकडाउन के कारण वह सब बंद हो गया.

READ More...  कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव का चौंकाने वाला आएगा नतीजा- कार्ति चिदंबरम ने किया दावा

निगम पार्षद बनना चाहती थी सपना
सपना की बहन ने कहा कि उसे कपड़े डिजाइन करना बहुत पसंद था और वह परिवार में हर पार्टी की जान के रूप में जानी जाती थी. उसकी इंस्टाग्राम आईडी रील से भरी हुई थी. परिवार ने बताया कि वह ब्यूटीशियन का कोर्स करने और आत्मनिर्भर बनने के लिए पैसे जुटाने में भी लगी थी. मनोरंजन पसंद सपना को राजनीति और नागरिक मुद्दों में भी गहरी दिलचस्पी थी. परिवार ने कहा कि पिछले साल, जब वह एक विधायक से मिलने गई थी तो एक गड्ढा ठीक कराने के लिए लड़ गई थी. सपना ने पानी की समस्या और सड़क यातायात की भी शिकायत की. बहन ने बताया कि सपना ने एक बार कहा था कि वह राजनीति में प्रवेश करना चाहती है, चुनाव लड़ना चाहती है और निगम पार्षद बनना चाहती है.

Tags: Delhi, Delhi police, Road accident

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)