e0a495e0a488 e0a4b0e0a4bee0a49ce0a58de0a4afe0a58be0a482 e0a4aee0a587e0a482 e0a4aae0a587e0a49fe0a58de0a4b0e0a58be0a4b2 e0a4a1e0a580
e0a495e0a488 e0a4b0e0a4bee0a49ce0a58de0a4afe0a58be0a482 e0a4aee0a587e0a482 e0a4aae0a587e0a49fe0a58de0a4b0e0a58be0a4b2 e0a4a1e0a580 1

नई दिल्ली . मध्य प्रदेश, राजस्थान और कर्नाटक जैसे कई राज्यों में कुछ सरकारी पेट्रोल पंपों पर मांग में अचानक वृद्धि के बाद पेट्रोल डीजल की किल्लत हो गई थी. इस संकट को लेकर केंद्र सरकार ने सफाई दी है. सरकार ने कहा है कि देश में पेट्रोल-डीजल की कोई कमी नहीं है. पेट्रोल-डीजल का उत्पादन मांग में तेजी को पूरा करने के लिए पर्याप्त है.

पेट्रोलियम मंत्रालय के मुताबिक, कई राज्यों के कुछ क्षेत्रों में सरकारी तेल पंपों पर भीड़ देखने को मिली है. इस वजह से तेल मिलने में देरी और लंबी लाइन देखने को मिली. इस वजह से पेट्रोल डीजल की आपूर्ति में कमी की अटकले लगने लगीं. लेकिन ऐसी कोई दिक्कत नहीं है. मांग को पूरा करने के लिए पर्याप्त आपूर्ति मौजूद है.

यह भी पढ़ें- राजस्थान: बिजली के बाद अब पेट्रोल-डीजल की भी किल्लत, 2 हजार से ज्यादा पंप हुये ड्राई!

“सरकारी कंपनियों को नुकसान”
सरकार ने कहा कि हमारे पास पर्याप्त सप्लाई है लेकिन कई जगहों पर कमी देखने को मिली और ग्राहकों को इंतजार करना पड़ा. पीएसयू फ्यूल रिटेलर्स इंडियन ऑयल, एचपीसीएल और बीपीसीएल ने बढ़ते क्रूड ऑयल की कीमतों के बीच पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़ाए हैं. वे पेट्रोल 14-18 रुपए और डीजल 20-25 रुपए नुकसान पर बेच रहे हैं. वहीं, दूसरी तरफ प्राइवेट रिटेलर्स नायरा एनर्जी, जियो-बीपी और शेल इतना नुकसान उठाने में सक्षम नहीं है.

सरकारी पंपों पर बिक्री बढ़ी
राजस्थान और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) और भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के कुछ पेट्रोल पंपों तेल खत्म हो गए. इसकी मुख्य वजह रही प्राइवेट पेट्रोल पंप की बजाय लोग सरकारी पंपों पर जाने लगे. खासतौर से डीजल की किल्लत देखने को मिली.

READ More...  ये हैं 10 लाख रुपये में आने वाली 5 फैमिली कार, किसी लग्जरी गाड़ी से कम नहीं है इनके फीचर्स

यह भी पढ़ें- क्रूड ऑयल अभी और रुलाएगा, क्यों हो रहा महंगा, हम पर क्या होगा असर और राहत की उम्मीद कब तक?

मध्य प्रदेश व राजस्थान में ज्यादा
एचपीसीएल ने एक ट्वीट में कहा कि राजस्थान में उसके पंपों ने मई में पेट्रोल की बिक्री में पिछले महीने की तुलना में लगभग 41 प्रतिशत और डीजल में 32 प्रतिशत की वृद्धि देखी. वहीं निजी कंपनियों की बिक्री में क्रमशः 10.5 प्रतिशत और 30 प्रतिशत की गिरावट आई.

मध्य प्रदेश में पेट्रोल की बिक्री में 40.6 प्रतिशत और डीजल की बिक्री में 46.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि निजी ईंधन खुदरा विक्रेताओं में 4.3 प्रतिशत और 29.5 प्रतिशत की गिरावट आई थी. बीपीसीएल ने भी इन राज्यों में समान मात्रा में उछाल देखा है.

Tags: Petrol, Petrol and diesel, Petrol diesel price, Petrol Pump

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)