e0a495e0a4ade0a580 e0a4a8e0a4b9e0a580e0a482 e0a4b8e0a58be0a49ae0a4be e0a4a5e0a4be e0a495e0a4bf e0a4aee0a581e0a49de0a587 e0a4b0e0a4be
e0a495e0a4ade0a580 e0a4a8e0a4b9e0a580e0a482 e0a4b8e0a58be0a49ae0a4be e0a4a5e0a4be e0a495e0a4bf e0a4aee0a581e0a49de0a587 e0a4b0e0a4be 1

रायरंगपुर (ओडिशा). सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने मंगलवार को कहा कि उन्हें ओडिशा के सभी दलों के सांसदों और विधायकों का समर्थन मिलने की उम्मीद है क्योंकि वह उस प्रदेश की बेटी हैं. जनजातीय नेता से राज्यपाल तक का सफर तय करने वाली मुर्मू ने कहा कि उन्हें टीवी के जरिये जानकारी मिली कि उन्हें राजग की ओर से देश के सर्वोच्च पद का प्रत्याशी घोषित किया गया है.

मुर्मू ने रायरंगपुर में अपने आवास पर संवाददाताओं से कहा, “मैं आश्चर्यचकित और खुश हूं. मयूरभंज जिले से आने वाली एक आदिवासी महिला के रूप में मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे इस पद का उम्मीदवार बनाया जाएगा.” उन्होंने कहा कि राजग सरकार ने आदिवासी महिला का चयन कर के भाजपा के नारे “सबका साथ सबका विश्वास” को सिद्ध कर दिया है.

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें बीजू जनता दल (बीजद) का समर्थन मिलेगा, मुर्मू ने कहा, “मुझे आशा है कि मुझे ओडिशा के सभी विधायकों और सांसदों का समर्थन प्राप्त होगा.” राष्ट्रपति चुनाव के लिए इलेक्टोरल कॉलेज में बीजद के पास 2.8 प्रतिशत से ज्यादा मत हैं. उन्होंने कहा, “मैं इस प्रदेश की बेटी हूं. मुझे एक ओड़िया होने के नाते सबसे यह अनुरोध करने का अधिकार है कि मेरा समर्थन करें.”

संथाल समुदाय में जन्मी मुर्मू ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 1997 में रायरंगपुर नगर पंचायत के सदस्य के रूप में की थी और आगे बढ़ते-बढ़ते 2000 में बीजद-भाजपा गठबंधन सरकार में मंत्री बनीं और 2015 में झारखंड की पहली महिला राज्यपाल बनीं. रायरंगपुर सीट से दो बार विधायक रह चुकीं मुर्मू 2009 में उस वक्त भी अपनी सीट से जीती थीं जब बीजद ने चुनाव से कुछ ही सप्ताह पहले भाजपा से गठबंधन तोड़ लिया था. इस चुनाव में बीजद को भारी जीत मिली थी.

READ More...  नोएडा में देह व्यापार के अड्डे का भंडाफोड़, 23 गिरफ्तार, छह पुलिसकर्मी निलंबित

मुर्मू ने कहा, “मुझे इस अवसर की आशा नहीं थी. मैं पड़ोसी राज्य झारखंड की राज्यपाल बनने के बाद छह साल से भी ज्यादा वक्त से राजनीतिक कार्यक्रमों में हिस्सा नहीं ले रही थी. आशा करती हूं सभी मेरा साथ देंगे.” द्रौपदी की उम्मीदवारी की घोषणा के बाद उनके पैतृक मयूरभंज जिले में खुशी का माहौल है. बड़ी संख्या में लोग उन्हें बधाई दे रहे हैं. संकेत हैं कि मुर्मू के नाम की घोषणा से पहले भाजपा ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से चर्चा की है.

Tags: BJP, Congress, Draupadi murmu, Rashtrapati Chunav

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)