N18 project 24 2
N18 project 24 2

हाइलाइट्स

कानपुर के लोगों को बिल जमा करने के लिए नहीं लगाना होगा विभाग का चक्कर
मोबाइल ऐप से शहर के लाखों उपभोक्ताओं को मिलेगा लाभ
उपभोक्ताओं को मिलेगी ऐप से पूरी जानकारी

रिपोर्ट: अखंड प्रताप सिंह

कानपुर: कानपुर वासियों के लिए एक अच्छी खबर है. अब उन्हें जलकल का बिल जमा करने के लिए विभाग जाकर लाइन में नहीं लगना पड़ेगा. अब शहरवासी घर बैठे जलकल विभाग के ऐप से अपने घर का सीवर और वाटर टैक्स भर सकेंगे. जलकल विभाग ने अपने उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए जलकल विभाग कानपुर (JALKAL VIBHAG KANPUR) नाम का ऐप लॉन्च किया है. जिसकी मदद से लोग अपने घर का सीवर और वॉटर टैक्स जमा कर सकेंगे.

क्या है ऐप की खासियत
गूगल प्ले स्टोर पर जलकल विभाग कानपुर के नाम से ऐप मौजूद है. आप प्ले स्टोर से इस ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. इसके लिए ऐप में आपको अपनी कुछ डिटेल भरने होगी. जिसके बाद इस ऐप के जरिए ही आप अपने घर का सीवर और वॉटर टैक्स इंटरनेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या किसी भी यूपीआई से भर सकते हैं.

उपभोक्ताओं को मिलेगी सीधा लाभ
जलकल विभाग के सचिव और इस ऐप के नोडल अधिकारी केपी आनंद ने बताया कि इस ऐप को लॉन्च करने का मुख्य उद्देश्य अपने उपभोक्ताओं को सुविधा प्रदान करना है. उपभोक्ताओं की हमेशा शिकायत रहती थी कि उन्हें अपने घर का सीवर और वाटर टैक्स भरने के लिए जल कर विभाग आना पड़ता है और घंटों लाइन में लगकर बिल जमा करना पड़ता है. जिसको देखते हुए विभाग ने पहले www.jalkalkanpur.in पर बिल जमा करने की सुविधा शुरू की थी. जिसके बाद अब इसको और सरल बनाने के लिए ऐप लॉन्च किया गया है.

READ More...  ओडिशा की सरकारी पुस्तिका में गांधी जी की हत्‍या को बताया गया 'दुर्घटना', छिड़ा विवाद

जिससे लोग घर बैठे अपने घर का सीवर और वॉटर टैक्स भर सकेंगे. वहीं कानपुर के शहरवासी भी इस ऐप के लांच होने से काफी खुश हैं. उनका कहना है कि उन्हें अब जलकल विभाग नहीं जाना पड़ेगा वह आसानी से अपने बिल जमा कर सकेंगे यह एक अच्छी योजना शुरू की गई है.

ऐसे जमा होगा बिल
सबसे पहले उपभोक्ता अपने मोबाइल पर जलकल विभाग कानपुर का ऐप डाउनलोड करें. उसके बाद खुद को ऐप में रजिस्टर्ड करना होगा. इसके बाद पीआईडी नंबर के बाद अपना रजिस्टर मोबाइल नंबर दर्ज कराना होगा. फिर ईमेल आईडी पासवर्ड बनाना होगा. इसके बाद ऐप के माध्यम से अपना बिल जमा करवा सकते हैं.

Tags: House tax, Kanpur news, Mobile apps, UP news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)