Britain's Prime Minister Boris Johnson - India TV Hindi
Image Source : AP Britain’s Prime Minister Boris Johnson 

कोरोना के नए स्ट्रेन के आने के बाद से ब्रिटेन खौफ में है। यहां हर रोज 50 हजार से ज्यादा नए कोरोना के केस आ रहे हैं। इसे देखते हुए ब्रिटेन एक बार फिर 2020 के मध्य जैसी स्थिति में पहुंच गया है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पूरे देश में सख्त लॉकडाउन लगा दिया है। बोरिस जॉनसन ने फिर से देश में लॉकडाउन का ऐलान करते हुए कहा कि कोरोना से निपटने के लिए कम से कम फरवरी के मध्य तक नया नेशनल लॉकडाउन लगाया है ताकि नए स्ट्रेन को रोका जा सके। इसका मतलब है कि सरकार एक बार फिर से आपको घर में रहने के लिए निर्देश दे रही है।

बता दें कि फाइजर और ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन को ब्रिटेन में आपात उपयोग की अनुमति मिल चुकी है। कल ही ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन का टीकाकरण अभियान शुरू हुआ है। अभी तक लाखों लोग इन वैक्सीन की पहली खुराक ले चुके हैं। वहीं कोरोना का यह नया स्ट्रेन देश में आफत का सबब बना हुआ है। इसे देखते हुए सरकार को लॉकडाउन का ऐलान करना पड़ा है। 

पढ़ें- बैंक अकाउंट से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर बदलना हुआ बेहद आसान, ये रहा पूरा प्रोसेस

बोरिस जॉनसन ने सोमवार रात को देश को संबोधित करते हुए कहा कि जिस तरह कोरोना वायरस के केस बढ़ रहे हैं। उससे साफ है कि हमें और मेहनत करने की जरूरत होगी। यह देश के लिए एक बेहद कठिन दौर है। देश के हर हिस्से में कोरोना के मामले बड़ी तेजी से बढ़ रहे हैं। फिलहाल, ब्रिटेन में स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी बंद रहेंगे, क्लासेस ऑनलाइन ही चलेंगी। विश्वविद्यालय के छात्र कम से कम फरवरी के मध्य तक कैम्पस वापस नहीं लौटेंगे। लॉकडाउन के दौरान लोगों को घरों में ही रहना होगा। लोग सिर्फ जरूरी काम से ही घर से निकल सकते हैं। 

READ More...  T20 WC:-हाई वोल्टेज मुकाबला,रिकॉर्ड बरकरार रखने के लिए,भारत भिड़ेगी पाकिस्तान से।

पढ़ें- किसानों के खाते में आएंगे 36000 रुपये, आज ही रजिस्ट्रेशन कर फ्री में उठाएं मानधन योजना का फायदा

पढ़ें- 2021 में बन जाइए दिल्ली में घर के मालिक, आज से शुरू हुई DDA में आवेदन प्रक्रिया, ये है तरीका

बेहद सख्त होगा लॉकडाउन 

प्रधानमंत्री जॉनसन ने साफ कर दिया है कि यह लॉकडाउन काफी सख्त होगा। सभी गैर-जरूरी दुकानें और हेयरड्रेसर जैसी पर्सनल केयर सर्विस बंद रहेंगी। रेस्तरां केवल टेकअवे सेवाएं मुहैया कराएंगे। बता दें कि सोमवार तक इंग्लैंड के अस्पतालों में 26,626 मरीज थे। यह पिछले सप्ताह की तुलना में 30 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि है। इस मौसम में यह पहली लहर के उच्चतम स्तर से 40 फीसदी अधिक है। बताते चलें कि प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कड़ी पाबंदियों के संकेत पहले ही दे दिए थे। पीएम ने सोमवार को ही कोरोना को रोकने के लिए सख्त प्रतिबंधों की रूपरेखा तैयार की थी।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Original Source(india TV, All rights reserve)