e0a495e0a58ce0a4a8 e0a4ace0a4a8e0a587e0a497e0a4be e0a495e0a4b0e0a58be0a4a1e0a4bce0a4aae0a4a4e0a4bf e0a495e0a580 e0a4a4e0a4b0
e0a495e0a58ce0a4a8 e0a4ace0a4a8e0a587e0a497e0a4be e0a495e0a4b0e0a58be0a4a1e0a4bce0a4aae0a4a4e0a4bf e0a495e0a580 e0a4a4e0a4b0 1

महराजगंज. उत्तर प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था को लेकर कई नकारात्मक बातें आप कह सकते हैं, लेकिन कई बार ऐसी खबरें भी सामने आती रहती हैं जो प्रशंसनीय होते हैं. ऐसा ही मामला महाराजगंज से सामने आया है जिसमें विद्यार्थियों के भविष्य निर्माण को लेकर शिक्षक जावेद का समर्पण साफ नजर आ रहा है. दरअसल, जनपद के निचलौल तहसील की प्राथमिक विद्यालय, रौतार के एक सहायक अध्यापक जावेद आलम हैं. इन्होंने ‘कौन बनेगा करोड़पति’ की तर्ज पर विद्यालय में ‘कौन बनेगा सैकड़ापति’ कार्यक्रम का आयोजन किया.

इसका उद्देश्य विद्यालय में बच्चों को हिंदी अंग्रेजी, गाणित और विज्ञान विषय के जानकारी के साथ-साथ खेल-खेल में उच्चस्तरीय जानकारियां देना था. सरकारी स्कूल के एक शिक्षक के द्वारा छात्रों के शिक्षा के स्तर में सुधार लाने का यह नायाब प्रयास है. यहां टीचर बच्चों को मशहूर टीवी सीरियल ‘कौन बनेगा करोड़पति’ की तरह ही ‘कौन बनेगा सैकड़ापति’ में हॉट सीट पर बैठाकर उनके सब्जेक्ट और जनरल नॉलेज के सवाल पूछते हैं. सही जवाब बताने पर 10 से 100 रुपये तक की धनराशि भी देते हैं.

शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के कई प्रयास सामने आते हैं, जिसमें शिक्षकों का भी काफी योगदान रहता है. कुछ ऐसा ही प्रयास महराजगंज जिले के एक सरकारी स्कूल के शिक्षकों द्वारा देखा जा रहा है. यहां टीचर बच्चों को मशहूर टीवी सीरियल “कौन बनेगा करोड़पति” के तर्ज पर हॉट सीट पर बैठाकर उनके सब्जेक्ट और जनरल नॉलेज के सवाल पूछते हैं. सही जवाब बताने पर धनराशि भी देते हैं.

10 रुपये से लेकर 100 रुपये तक का है इनाम
‘कौन बनेगा सैकड़ापति’ में शिक्षक बच्चों से सवाल पूछते हैं. सही जवाब देने पर 10 रुपये से लेकर 100 रुपये तक का इनाम दिया जाता है. इसके साथ ही विद्यालय के क्लासरूम में ‘जादू’ भी आता है, जो बच्चों से सवाल-जवाब करता है. शिक्षक के इस प्रयास से बच्चों में आत्मविश्वास बढ़ने के साथ ही उनका बौद्धिक विकास और ज्ञान भी बढ़ रहा है.

READ More...  कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार से जुड़े मनी लॉ‌न्ड्रिंग मामले में 4 को जमानत

बीसीए आशीष सिंह भी इस हॉट सीट पर बैठे
बीएसए आशीष सिंह स्कूल का निरीक्षण करने आए थे, तो शिक्षक जावेद ने उनको भी ‘कौन बनेगा सैकड़ापति’ के हॉट सीट पर बैठाया. उनसे प्रश्न पूछे. जिसमें सभी प्रश्नों का सही उत्तर देकर बीएसए ने 100 रुपये जीते. इस दौरान उन्होंने बच्चों को और बेहतर करने की बात कही. उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं.

दो टीचरों ने मिलकर किया प्रयास, हुआ कमाल!
मिली जानकारी के अनुसार, वर्ष 2018 में इस पूर्व प्राथमिक विद्यालय का भवन बना था. कोरोना के कारण लॉकडाउन लग गया. साल 2021 में इस विद्यालय की शुरुआत हुई. यहां दो शिक्षकों जावेद आलम और सुमित कुमार पटेल की तैनाती हुई. दोनों शिक्षकों ने जंगल से सटे पिछड़े इलाके में स्थित इस स्कूल के बच्चों को कुछ नए प्रयोग के माध्यम से पढ़ाने और सिखाने के बारे में सोचा. इसके बाद दोनों शिक्षकों ने मिलकर नए-नए प्रयोग किए. खेल, कॉमेडी और ‘कौन बनेगा सैकड़ापति’ के माध्यम से बच्चों को पढ़ाने का प्रयास शुरू किया.

कभी वीडियो के माध्यम से बच्चों को गाना गाकर कुछ सीखना हो या चित्र बनाकर सूर्यग्रहण का मतलब समझाना हो या फिर हो देश से जुड़ी अहम जानकारियां. सब कुछ विद्यालय में बच्चों में सिखाया जाता है. बच्चों में खोज परक और उच्च शिक्षा की सीख देने और सिखाई गई जानकारियों को परखने के लिए गुरु जावेद आलम के इस प्रयास की चारों ओर काफी प्रशंसा हो रही है.

READ More...  अमेरिका के रक्षा मंत्री ऑस्टिन से बातचीत के बाद बोले राजनाथ- वार्ता "व्यापक और सार्थक" रही

Tags: KBC, Maharajganj News, Uttar pradesh latest news, Uttar pradesh news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)