e0a495e0a58de0a4afe0a58be0a482 e0a49ae0a4b0e0a58de0a49ae0a4be e0a4aee0a587e0a482 e0a4b9e0a588 e0a4afe0a587 e0a4b2e0a587e0a4a1e0a580 ips

राजस्थान, यूपी और हरियाणा के कुछ सोशल मीडिया ग्रुप्स में इन दिनों एक लेडी आईपीएस अफसर की तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही हैं. पुलिस की वर्दी में उनकी रौबदार छवि के साथ फेसबुक पर उनके महिला शिक्षा को प्रोत्साहित करने वाले पोस्ट और कुछ निजी तस्वीरें भी शेयर की जा रही हैं. हम बात कर रहे हैं जयपुर के पुलिस कमिश्नरेट में कार्यरत 2012 बैच की आईपीएस अफसर पूजा अवाना की.

हालांकि खुद IPS अवाना को इस बात का पता नहीं था कि उनकी तस्वीरें और फेसबुक पोस्ट लोगों के बीच वायरल क्यों हो रहे हैं. मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन में डीसीपी के पद पर तैनात पूजा अवाना से जब इस बारे में बातचीत की गई तो वो हैरान थीं. जब उन्हें पता चला कि उनके लिखे पोस्ट और पुलिस सेवा से यूथ इंसपायर होकर शेयर, लाइक और कमेंट कर रहे हैं तो उन्होंने न्यूज18 से बातचीत में एजुकेशन और कॅरियर से जुड़ी ऐसी कई जानकारियां साझा की. यूथ के लिए ये किसी सक्सेस मंत्र से कम नहीं है.

ये भी पढ़ें- राजस्थान की 5 सीटों पर जीत दारोमदार इन 6 महिलाओं पर

CBSE बोर्ड रिजल्ट्स से हताश न हों

डीसीपी पूजा ने अपने कॅरियर और पुलिस सेवा से जुड़ी बातों को जिक्र करते CBSE RESULTS के बाद नाकामयाबी या बहुत अच्छे मार्क्स नहीं मिलने से निराश स्टूडेंट्स को मैसज दिया कि हताश होने की जरूरत नहीं है. असफलता, कम मार्क्स या पहले प्रयास में कामयाबी नहीं मिलने से निराश न हों, अपने लक्ष्य पर डटे रहें और सपनों के पीछे और कड़ी मेहनत से लग जाएं. इस बार नहीं तो अगली बार सही, कामयाबी आपसे दूर नहीं रहेगी.

READ More...  लखनऊ विश्विद्यालय में छात्रवृत्ति कल्याण योजना के तहत 50 स्टूडेंट्स का हुआ चयन,मिलेगी 15 हजार रुपए की मासिक स्कॉलरशिप?

पहले प्रयास में असफल, दूसरे में 316वीं रैंक

उन्होंने बताया कि 2010 में इंडियन पुलिस सर्विस के लिए उनका पहला प्रयास असफल रहा था. वे कहती हैं, ‘मैंने अपने लक्ष्य से पीछे नहीं हटी, हिम्मत नहीं हारी और अगले ही प्रयास में मुझे सफलता मिल गई’. बता दें कि दूसरे प्रयास में उन्होंने 316वीं रैंक प्राप्त की थी और आज आईपीएस अफसर के रूप में यूथ के बीच आदर्श बनी हुई हैं.

सक्सेस मंत्र

12वीं पास करने वाले या स्टडी करने वाले स्टूडेंट्स के लिए डीसीपी पूजा का कहना है कि स्टूडेंट अपनी अपनी ताकत (स्ट्रेंथ) और कमजोरियों (वीकनेस) को पहचाने. अपनी क्षमताओं के अनुसार ही विषय या क्षेत्र का चयन करें और फिर लक्ष्य तय कर उसे पाने के लिए जुट जाएं. ये क्षेत्र या आपका लक्ष्य कोई भी हो सकता है जैसे, स्पोर्ट्स, कल्चरल, डिफेंस, पुलिस सेवा या एकेडमिक्स. आपका अपने लक्ष्य या सपने के प्रति पैशन होना जरूरी है. हां, पढ़ाई के साथ-साथ अपनी हॉबीज को भी समय दें.

ये भी पढ़ें- राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत का आरोप- नरेंद्र मोदी को मुझसे दुश्मनी है
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

आपके शहर से (जयपुर)

राजस्थान
जयपुर

राजस्थान
जयपुर

Tags: IPS, Jaipur news, Police officers, Rajasthan police

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)