e0a497e0a4b0e0a581e0a4a1e0a4bc e0a4aae0a581e0a4b0e0a4bee0a4a3 e0a495e0a587 e0a487e0a4b8 e0a4aee0a482e0a4a4e0a58de0a4b0 e0a495e0a587
e0a497e0a4b0e0a581e0a4a1e0a4bc e0a4aae0a581e0a4b0e0a4bee0a4a3 e0a495e0a587 e0a487e0a4b8 e0a4aee0a482e0a4a4e0a58de0a4b0 e0a495e0a587 1

हाइलाइट्स

गरुड़ पुराण में मनुष्य के कर्मों का लेखा-जोखा मिलता है.
गरुड़ पुराण मनुष्यों को सत्कर्म करने के लिए प्रेरित करता है.
संजीवनी मंत्र व्यक्ति के जीवन से दुर्भाग्य को दूर करता है.

Garud Puran Mantra: गरुड़ पुराण मनुष्य के जीवन पर आधारित हिंदू धर्म के प्रमुख ग्रंथों में से एक है. गरुड़ पुराण को महापुराण भी कहा जाता है और इसके अधिपति देव भगवान विष्णु हैं. गरुड़ पुराण में मनुष्य के कर्मों का लेखा जोखा मिलता है. इसमें बताया गया है कि मनुष्य को अपने जीवन में सत्कर्म करने चाहिए. बुरे कर्म करने पर मनुष्य को परलोक में मोक्ष की प्राप्ति नहीं होती है. उसे मृत्यु के बाद बहुत कष्ट सहने पड़ते हैं. पंडित इंद्रमणि घनस्याल बताते हैं कि गुरुड़ पुराण मनुष्यों को सत्कर्म व धर्म के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करता है. गरुड़ पुराण में ऐसे कई मंत्र भी वर्णित हैं, जिनके जाप से जीवन सुखमय रहता है और आर्थिक स्थिति मजबूत होती है. आइये जानते हैं उन मंत्रों के बारे में विस्तार से.

संजीवनी मंत्र
गरुड़ पुराण में संजीवनी मंत्र का उल्लेख मिलता है, जिसका जाप करना बेहद शुभ व फलदायी होता है. गरुड़ पुराण के अनुसार, संजीवनी मंत्र व्यक्ति के जीवन से दुर्भाग्य को दूर करता है, जिससे उसके जीवन में धन संपदा बनी रहती है. अगर आप आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं तो गरुड़ पुराण के संजीवनी मंत्र का नियमित जाप करना चाहिए.

संजीवनी मंत्र – यक्षि ओम उं स्वाहा

जाप के नियम
गरुड़ पुराण में संजीवनी मंत्र के जाप के नियम बताए गए हैं. संजीवनी मंत्र का जाप किसी सिद्ध पुरुष के सानिध्य में करना चाहिए. इस मंत्र के जाप का फल तभी प्राप्त होगा जब आपका उदृेश्य जगत कल्याण के लिए रहेगा. संजीवनी मंत्र के जाप से दीर्घायु का वरदान प्राप्त होता है.

READ More...  Paush Amavasya 2022: 23 दिसंबर को है साल की अंतिम अमावस्या, इन उपायों से बढ़ेगी सुख-समृद्धि

दरिद्रता होगी दूर
गरुड़ पुराण में एक अन्य विशेष मंत्र का उल्लेख मिलता है, जिसका प्रयोग दरिद्रता दूर करने के लिए किया जाता है. मान्यता है कि इस मंत्र के जाप से जीवन में धन का अभाव नहीं रहता है. ज्योतिषियों के अनुसार, अगर कोई व्यक्ति 6 महीने तक इसका पाठ करता है तो उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. यह मंत्र है… ॐ जूं स:

ये भी पढ़ें: 14 जनवरी को सूर्य का राशि परिवर्तन, नए साल में खोलेगा बंद किस्मत,
ये भी पढ़ें: मकर सं​क्रांति पर फंसा पेंच, कब मनाएं 14 या 15 जनवरी को? जानें क्या है सही तारीख

Tags: Dharma Aastha, Dharma Culture, Religion

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)