e0a497e0a587e0a4b9e0a582e0a482 e0a494e0a4b0 e0a49ae0a4bee0a4b5e0a4b2 e0a4a8e0a4bfe0a4b0e0a58de0a4afe0a4bee0a4a4 e0a4aee0a587e0a482
e0a497e0a587e0a4b9e0a582e0a482 e0a494e0a4b0 e0a49ae0a4bee0a4b5e0a4b2 e0a4a8e0a4bfe0a4b0e0a58de0a4afe0a4bee0a4a4 e0a4aee0a587e0a482 1

हाइलाइट्स

पोल्ट्री उत्पादों के निर्यात में 83 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.
डेयरी उत्पादों के निर्यात में 58 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.
गैर बासमती चावल के निर्यात में सालाना आधार पर 8 फीसदी का उछाल आया है.

नई दिल्‍ली. कृषि एवं प्रोसेस्ड खाद्य उत्पादों के निर्यात में पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि की तुलना में चालू वित्त वर्ष के छह महीनों (अप्रैल – सितंबर) के दौरान 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. गेहूं, चावल और दलहन फसलों सहित डेयरी उत्‍पादों और फल-सब्जियों के निर्यात में अच्‍छा उछाल आया है. गेहूं और चावल की मांग बढ़ने से इनके भाव भी तेज हो गए हैं. इससे जहां किसानों को फायदा हुआ है, वहीं आम लोगों का बजट ज्‍यादा दाम चुकाने से बिगड़ रहा है.

वाणिज्यिक सूचना तथा सांख्यिकी महानिदेशालय द्वारा जारी आंकड़ों से पता चला है कि समग्र उत्पाद निर्यात अप्रैल – सितंबर 2022 के दौरान पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 1105.6 करोड़ डॉलर की तुलना में बढ़कर 1377 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया. कृषि एवं प्रसंस्कृत खाद्य निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) ने चालू वित्त वर्ष के छह महीनों के भीतर ही वित्त वर्ष 2022-23 के लिए निर्धारित कुल निर्यात लक्ष्य का 58 प्रतिशत हासिल कर लिया है. अनाज तथा प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों के निर्यात में पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 29.36 प्रतिशत की वृद्धि की गई है.

गेहूं निर्यात में 136 फीसदी उछाल
गेहूं के निर्यात ने चालू वित्त की दूसरी छमाही में 136 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज कराई. गेहूं का निर्यात अप्रैल- सितंबर 2022-23 में बढ़कर 148.7 करोड़ डॉलर हो गया जबकि पिछले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में यह 63 करोड़ डॉलर रहा था. अनाजों का निर्यात अप्रैल- सितंबर 2021-22 के दौरान 46.7 करोड़ डॉलर का रहा था, जबकि अप्रैल- सितंबर 2022-23 के दौरान यह बढ़कर 52.5 करोड़ डॉलर तक जा पहुंचा.

READ More...  Petrol Diesel Prices Today : तेल कंपनियों ने जारी की पेट्रोल-डीजल की नई कीमत, चेक करिए अपने शहर का रेट ?

ये भी पढ़ें-  कंपनी दिवालिया हो जाए तो मिलेगा ग्रेच्‍युटी का पैसा, छोड़िएगा मत! जानिए क्या कहता है कानून?

दलहन निर्यात बढ़ा
दलहन के निर्यात में पिछले वित्त वर्ष के इन्हीं महीनों की तुलना में चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान 144 प्रतिशत की बढोतरी देखी गई जबकि मसूर दाल का निर्यात अप्रैल – सितंबर 2021-22 के 13.5 करोड़ डॉलर की तुलना में अप्रैल – सितंबर 2022-23 के दौरान 33 करोड़ डॉलर तक पहुंच गया.

बासमती चावल के निर्यात में 37.36 फीसदी का उछाल
वित्त वर्ष 2022-23 के छह महीनों के दौरान बासमती चावल के निर्यात में 37.36 प्रतिशत की बढोतरी दर्ज की गई जो अप्रैल – सितंबर 2021-22 के 1660 मिलियन डॉलर की तुलना में अप्रैल – सितंबर 2022-23 के दौरान 2280 मिलियन डॉलर तक पहुंच गया. गैर बासमती चावल के निर्यात में चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के दौरान 8 प्रतिशत की वृद्दि दर्ज की गई है. इसका निर्यात चालू वित्त वर्ष के छह महीनों में 3207 मिलियन डॉलर रहा, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के दौरान यह 2969 मिलियन डॉलर रहा था.

Tags: Business news in hindi, Export, Indian export, Inflation, Rice, Wheat

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)