e0a49ae0a4b2e0a4a4e0a580 e0a49fe0a58de0a4b0e0a587e0a4a8 e0a4b8e0a587 1 e0a495e0a4b0e0a58be0a59c e0a495e0a587 e0a4b8e0a58be0a4a8e0a587

पटना4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
ट्रेन की फोटो। - Dainik Bhaskar

ट्रेन की फोटो।

चलती ट्रेन से सोने से बनी ज्वेलरी की चोरी हुई है। जिसका वजन करीब 2 किलो है। इसकी कीमत 1 करोड़ रुपए के करीब की है। साथ में 3 लाख रुपए की कीमत की 5 किलो चांदी और 2 लाख रुपया कैश भी चोरी हुआ है। चोरी की ये बड़ी वारदात हुई है राजस्थान के भगत की कोठी से असम के कामख्या जा रही 15623 डाउन एक्सप्रेस ट्रेन में। वो भी AC कोच के अंदर। जब यह मामला सामने आया तो रेल पुलिस और RPF के बीच जबरदस्त हड़कंप मच गया। चोरी हुई सोना-चांदी और कैश सफर कर रहे पैसेंजर मनोज कुमार जैन के थे। ये असम में रहते हैं।

ट्रॉली में ज्वेलरी तो टिफिन में रखा था कैशजिस सोना-चांदी की चोरी हुई, वो ज्वेलरी थी। जिसे मनोज कुमार जैन ने दाे अलग-अलग ट्राॅली में रखा था। जबकि, कैश टिफिन बॉक्स करके रखा हुआ था। राजस्थान के सुजानगढ़ स्टेशन से मनाेज कुमार जैन ने अपने सफर की शुरुआत की थी। उनका रिजर्वेशन सेकेंड AC के A- 2 कोच में बर्थ नंबर 28 पर था। उन्हें कामख्या जाना था। इस ट्रेन में मनोज के साथ उनके दाेस्त भंवरलाल शर्मा भी सफर कर रहे थे।

3 घंटे 36 मिनट लेट आई ट्रेनजिस वक्त सामान की चोरी हुई, उस वक्त मनोज गहरी नींद में थे। ट्रेन अपने टाइम से 3 घंटे 36 मिनट लेट चल रही थी। रेल पुलिस को शक है कि जब ट्रेन आरा स्टेशन से खुली तो इसके बाद ही ज्वेलरी से भरी ट्रॉली और कैश से भरा टिफिन बॉक्स चोरी हुआ। गुरुवार की सुबह 6 बजकर 26 मिनट पर ट्रेन पटना जंक्शन पहुंची। तब मनोज की नींद खुली। इसके बाद उन्हें अपनी दाेनाें ट्राॅली और टिफिन गायब मिली।दूसरी तरफ मनाेज ने दावा किया कि उसका सामान पटना जंक्शन पर ही चोरी हुआ है।

READ More...  पहले पत्नी ने खाया जहर, अब पति करेगा सुसाइड!:पति ने सोशल मीडिया पर डाला वीडियो, कहा - पत्नी का है दूसरे युवक से अफेयर

FIR दर्ज कर जांच में जुटी रेल पुलिसपूरे मामले पर पटना के प्रभारी रेल एसपी अनिल सिंह से बात की गई। इनके अनुसार पैसेंजर मनोज के लिखित शिकायत पर रेल थाना में FIR दर्ज कर ली गई है। साथ ही जांच भी शुरू कर दी गई है। पटना जंक्शन पर लगे CCTV कैमरे को खंगाला जा रहा है। शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि मनाेज मूल रूप से राजस्थान के सूजनगढ़ के रहने वाले हैं। हैं। परिवार में पुश्तैनी ज्वेलरी का बंटवारा हुआ था। जो ज्वेलरी इनके हिस्से में आई, उसे ही लेकर वो कामख्या जा रहे थे। रेल पुलिस ने उनसे ज्वेलरी के पेपर भी मांगे थे, पर किसी प्रकार का पेपर उनके पास नहीं था।

खबरें और भी हैं…

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)