e0a49ae0a580e0a4a8 e0a4b8e0a587 e0a486e0a488 2 e0a489e0a4a1e0a4bce0a4bee0a4a8e0a58be0a482 e0a495e0a587 50 e0a4afe0a4bee0a4a4e0a58de0a4b0
e0a49ae0a580e0a4a8 e0a4b8e0a587 e0a486e0a488 2 e0a489e0a4a1e0a4bce0a4bee0a4a8e0a58be0a482 e0a495e0a587 50 e0a4afe0a4bee0a4a4e0a58de0a4b0 1

मिलान: इटली ने चीन से आने वाली उड़ानों के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य (Mandatory Covid Test) कर दिया है. यह फैसला बीजिंग से मिलान आई 2 उड़ानों में जांच के दौरान 50% से ज्यादा यात्रियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद लिया गया है. भले ही चीन का कहना है कि उसके यहां कोविड संक्रमण ‘अनुमानित और नियंत्रण में’ है, लेकिन बीजिंग के अचानक जीरो-कोविड पॉलिसी (Zero Covid Policy) के तहत लागू प्रतिबंधों को ​हटाने के बाद वहां बढ़ते कोरोना संक्रमण ने वैश्विक खतरा पैदा कर दिया है. कोरोना संकट के बीच संयुक्त राज्य अमेरिका ने भी चीनी यात्रियों (Mandatory Covid Test for Chinese Travellers) के लिए कोरोना टेस्ट निवार्य कर दिया है. वह ऐसा करने वाला दुनिया का 5वां देश बन गया है.

कोविड से लड़ रहे चीन की ये जगहें बताती हैं कितना विचित्र है देश! कहीं है लाल धरती, कहीं है ‘स्वर्ग का दरवाजा’!

लोम्बार्डी के रीजनल काउंसलर गुइडो बर्टोलासो ने मीडिया से कहा, ‘चीन से मिलना पहुंची पहली फ्लाइट के 92 यात्रियों में से 35 (38%) कोविड पॉजिटिव मिले हैं. दूसरे फ्लाइट के 120 यात्रियों में से 62 (52%) कोरोना संक्रमित मिले हैं.’ जापान और भारत ने चीन से आने वाले यात्रियों के लिए एयरपोर्ट पर ही आरटी-पीसीआर टेस्ट की शुरुआत कर चुके हैं. हालांकि, भारत और चीन के बीच कोई डायरेक्ट फ्लाइट सर्विस नहीं है,​ फिर भी एहतियातन यह कदम उठाया गया है. चीन 8 जनवरी से अपने यहां आने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य क्वारंटीन व्यवस्था समाप्त करने जा रहा है. बीजिंग के इस कदम का चीनी नागरिकों ने उत्साह के साथ स्वागत किया है. अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग में तेज उछाल देखा गया है.

READ More...  रूस ने 'पुतिन का दिमाग' कहे जाने वाले डुगिन की बेटी की हत्या के लिए यूक्रेन को जिम्मेदार ठहराया

अमेरिका के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि चीन द्वारा जीरो-कोविड नीतियों को हटाने के फैसले के बाद भारत, इटली, जापान और ताइवान के साथ मिलकर नए कदम उठाए जा रहे हैं. इसी के तहत 5 जनवरी से 2 वर्ष और उससे अधिक उम्र के सभी हवाई यात्रियों को चीन, हांगकांग या मकाओ से प्रस्थान करने से 2 दिन पहले कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा. केंद्रीय अधिकारियों ने कहा कि जो यात्री उड़ान से 10 दिन पहले पॉजिटिव पाए जाते हैं, वह कोरोना से रिकवरी के दस्तावेज पेश कर सकते हैं. अमेरिकी अधिकारियों ने चिंता जताई कि चीन में कोविड मामलों की बढ़ती संख्या के परिणामस्वरूप वायरस के नए प्रकार विकसित हो सकते हैं.

चीनी मानव तस्कर के जाल में फंसते गरीब एशियाई देश, नौकरी दिलाने के नाम पर कराते हैं ऐसे घिनौने काम

अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, व्यापक जनविरोध के बाद चीन को मजबूरी में जीरो कोविड पॉलिसी खत्म करने का निर्णय लेना पड़ा. प्रतिबंधों में रहने के दौरान वहां लोग वायरस के प्रति अतिसंवेदनशील हो गए, उनमें कोरोनावायरस के खिलाफ इम्युनिटी नहीं विकसित हो पाई. प्रतिबंध हटने पर लोग अचानक वायरस के संपर्क में आए और COVID-19 बड़े पैमाने पर अनियंत्रित रूप से फैलने लगा. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक चीन में दिसंबर के शुरुआती 20 दिनों में 25 करोड़ से अधिक लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और 10 लाख से अधिक मौतें हुई हैं. लेकिन चीन आंकड़े छिपा रहा है. अब तो उसने आधिकारिक आंकड़े जारी करने भी बंद कर दिए हैं. विश्व के कुछ प्रमुख महामारी विशेषज्ञों का मानना है कि जनवरी में चीन में हर रोज 40 लाख से अधिक कोरोना संक्रमित मिल सकते हैं.

READ More...  पूर्वी इंडोनेशिया में महसूस किए गए भूकंप के तेज झटके, रिक्टर स्केल पर 5.6 थी तीव्रता

Tags: Corona Alert, Coronavirus, Covid 19 Alert

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)