e0a49ae0a587e0a4a8e0a58de0a4a8e0a488 e0a4aae0a581e0a4b2e0a4bfe0a4b8 e0a495e0a4b8e0a58de0a49fe0a4a1e0a580 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b9
e0a49ae0a587e0a4a8e0a58de0a4a8e0a488 e0a4aae0a581e0a4b2e0a4bfe0a4b8 e0a495e0a4b8e0a58de0a49fe0a4a1e0a580 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b9 1

चेन्नईः तमिलनाडु पुलिस की कस्टडी में एक और मौत हो गई है. रविवार को एस. राजशेखर नाम के व्यक्ति ने पुलिस की हिरासत में दम तोड़ दिया. राजशेखर एक हिस्ट्रीशीटर था. उसके खिलाफ 27 केस दर्ज थे. गोल्ड चोरी के मशहूर केस में पुलिस ने उसे उठाया था. पुलिस ने उसके साथ किसी तरह के ज्यादती किए जाने से इनकार किया है. मामला क्राइम ब्रांच सीआईडी को सौंपने की बात कही है. इधर, तमिलनाडु में नेता विपक्ष ई पलनिस्वामी ने हाईकोर्ट के जज से जांच की मांग की है. पिछले दो महीने में ये दूसरा मौका है, जब चेन्नई पुलिस की हिरासत में किसी की जान गई है.

द हिंदू ने सूत्रों के हवाले से बताया कि राजशेखर उर्फ ​​अप्पू (33) पड़ोसी तिरूवल्लूर जिले के अलमठी के पास मुंधिरी थोप्पू का रहने वाला था. पुलिस का दावा है कि राजशेखर के खिलाफ सेंधमारी, डकैती, चोरी और हत्या के प्रयास सहित 27 आपराधिक मामले दर्ज थे. शोलावरम पुलिस स्टेशन में उसके खिलाफ हिस्ट्रीशीट खोली गई थी. वह कोडुंगैयूर में गोल्ड चोरी के केस में संदिग्ध था. उत्तरी चेन्नई के कोडुंगैयूर पुलिस स्टेशन की स्पेशल टीम ने उसे इस चोरी की घटना के सिलसिले में पकड़ा था.

TOI ने पुलिस सूत्रों के हवाले से दावा किया कि राजशेखर ने चोरी में अपनी भूमिका कबूल कर ली थी. उससे 35 सॉवरेन गोल्ड जूलरी बरामद भी हो चुकी थी. बाकी गोल्ड बरामद करने के लिए उससे पूछताछ की जा रही थी. उसे पुलिस चौकी में रखा गया था. अचानक उसने बेचैनी की शिकायत की और बेहोश हो गया. उसे तुरंत नजदीकी अस्पताल ले जाया गया. वहां उसे दवाएं दी गईं और इंजेक्शन लगाया गया जिससे वह ठीक हो गया. उसे वापस चौकी पर लाया गया, लेकिन फिर से उसे परेशानी होने लगी. उसे सरकारी स्टेनली अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

READ More...  महाराष्ट्र राज्यसभा चुनाव के नतीजों पर बोले शरद पवार, कहा- यह चमत्कार देवेंद्र फडणनवीस ने किया है

द हिंदू के मुताबिक, पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि राजशेखर के साथ पुलिसवालों ने कोई ज्यादती नहीं की थी. उसके शरीर पर चोट के कोई निशान भी नहीं मिले. बहरहाल, शहर के पुलिस आयुक्त शंकर जीवाल ने जांच के आदेश दे दिए हैं. सीआरपीसी की धारा 176 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. संदिग्ध की पुलिस हिरासत में मौत हुई है, इसलिए मजिस्ट्रेट जांच कराई जाएगी.

इससे पहले, अप्रैल में ड्रग्स रखने के आरोप में पकड़े गए 25 वर्षीय वी. विग्नेश की सचिवालय कॉलोनी पुलिस स्टेशन में कथित रूप से पिटाई से मौत हो गई थी. इस मामले की जांच सीबी-सीआईडी कर रही है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला था कि उसकी कई हड्डियां टूट गई थीं. इस मामले में 6 पुलिसवालों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

Tags: Chennai, Death in police custody

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)