e0a49be0a4a4e0a58de0a4a4e0a580e0a4b8e0a497e0a4a2e0a4bc e0a4ace0a58be0a4b0e0a4b5e0a587e0a4b2 e0a4aee0a587e0a482 e0a497e0a4bfe0a4b0
e0a49be0a4a4e0a58de0a4a4e0a580e0a4b8e0a497e0a4a2e0a4bc e0a4ace0a58be0a4b0e0a4b5e0a587e0a4b2 e0a4aee0a587e0a482 e0a497e0a4bfe0a4b0 1

रायपुर: छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के एक गांव में 50 फीट गहरे बोरवेल (Chhattisgarh Borewell Incident) में गिरे राहुल को निकालने की कोशिश जारी है. 10 साल के राहुल साहू को सुरक्षित तरीके से बाहर निकालने के लिए सोमवार को भी रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहा. बताया जा रहा है कि राहुल को किसी भी वक्त बाहर निकाला जा सकता है. राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्वयं इस राहत और बचाव अभियान की मॉनिटरिंग कर रहे हैं. उन्होंने कलेक्टर और एसपी को राहुल के रेस्क्यू के बाद उसे अस्पताल ले जाने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाने का निर्देश दिया है.

सीएमओ छत्तीसगढ़ ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जांजगीर-चांपा कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला और एसपी विजय अग्रवाल को राहुल के रेस्क्यू के बाद उसे अस्पताल ले जाने हेतु ग्रीन कॉरिडोर बनाने के निर्देश दिए. इससे पहले सोमवार सुबह 10 बजे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट करके बताया था कि, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. ड्रिलिंग के दौरान एक चट्टान आ जाने से राहुल साहू को बाहर निकालने में समय थोड़ा बढ़ गया है. लेकिन बोरवेल के आसपास पिछले 3 दिनों से गूंजती एनडीआरएफ के जवानों की ये आवाजें राहुल की उम्मीदें बनी हुई हैं.

वहीं राहत और बचाव कार्य में लगे अधिकारियों ने कहा कि राहुल साहू शुक्रवार को अपराह्न करीब दो बजे मलखरोदा विकास खंड के पिहरिड गांव में अपने घर के पीछे खेलते समय 80 फुट गहरे बोरवेल में गिर गया था.

READ More...  उत्तराखंड: मसूरी में बना कंटेनमेंट जोन, जिला प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

उन्होंने कहा कि बचाव दल में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और सेना के अधिकारियों सहित 500 से अधिक कर्मी शामिल हैं. वे बच्चे को सुरक्षित निकालने के लिए अत्याधुनिक मशीनों और वाहनों का उपयोग कर रहे हैं.

राहुल गांधी से ईडी की पूछताछ, छत्तीसगढ़ के विधायक गिरफ्तार, भूपेश बघेल बोले- कांग्रेस डरेगी नहीं

ताजा जानकारी के अनुसार, शुक्रवार शाम से जारी समानांतर गड्ढा खोदने का काम अंतिम चरण में है. फिर एक सुरंग बनाई जाएगी जो बचाव दल के बोरवेल तक पहुंचने और बच्चे को निकालने में मदद करेगी. अधिकारियों ने बताया कि गुजरात से रोबोट विशेषज्ञों की एक टीम भी घटनास्थल पर पहुंच गई है और रोबोट की मदद से बच्चे को सुरक्षित बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है.

सरकारी बयान में कहा गया, स्वास्थ्य अधिकारी कैमरों के माध्यम से लगातार राहुल की स्थिति की निगरानी कर रहे हैं. वह सचेत है और हिल-डुल रहा है. रविवार तड़के उसे शीतल पेय और केला दिया गया और आज सुबह रस पिलाया गया. बोरवेल में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए एक पाइप लगाया गया है.

(भाषा से इनपुट के साथ)

Tags: Chhattisgarh CM, CM Bhupesh Baghel

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)