e0a49fe0a4a8e0a4b2 e0a495e0a4be e0a489e0a4a6e0a58de0a498e0a4bee0a49fe0a4a8 e0a495e0a4b0e0a4a8e0a587 e0a486e0a48f e0a4aae0a580e0a48f
e0a49fe0a4a8e0a4b2 e0a495e0a4be e0a489e0a4a6e0a58de0a498e0a4bee0a49fe0a4a8 e0a495e0a4b0e0a4a8e0a587 e0a486e0a48f e0a4aae0a580e0a48f 1

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को साफ-सफाई और स्वच्छता बहुत पसंद है. समय-समय पर वह इसके लिए लोगों को प्रेरित भी करते रहते हैं. रविवार को नई दिल्ली में प्रगति मैदान एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर प्रोजेक्ट की मुख्य सुरंग और 5 अंडरपास का उद्घाटन करते वक्त भी उन्होंने स्वच्छता का संदेश दिया. उद्घाटन से पहले पीएम मोदी इसी टनल से कार्यक्रम स्थल तक गए. खुली जीप से बाहर निकलकर पैदल चलने लगे. इसी दौरान उन्हें सड़क के किनारे कचरा दिखा तो उसे खुद ही उठा लिया और डस्टबिन में डाला.

समाचार एजेंसी एएनआई के वीडियो में दिखता है कि प्रधानमंत्री मोदी टनल में बने आर्ट-वर्क को देखते हुए पैदल चलते हुए आते हैं. इसी दौरान उन्हें सड़क के किनारे कुछ कचरा दिखता है. वो खुद झुककर उसे उठा लेते हैं और आगे बढ़ जाते हैं. कुछ दूर चलने पर पानी की एक खाली बोतल पड़ी हुई दिखती है. पीएम मोदी उसे भी उठाकर अपने हाथ में रख लेते हैं, फिर आगे चलकर इन्हें डस्टबिन में डाल देते हैं.

स्वच्छ भारत मिशन पीएम मोदी के प्रमुख अभियानों में से एक रहा है. इसके जरिए उन्होंने देशवासियों को साफ-सफाई के प्रति जागरुक किया. 2 अक्टूबर 2014 को महात्मा गांधी क 145वीं जयंती पर पीएम मोदी ने इस अभियान को लॉन्च किया था. प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली के मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन के पास खुद झाड़ू उठाकर स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी. इसके बाद वह वाल्मीकि बस्ती पहुंचे थे और वहां भी साफ-सफाई की थी. इसके अलावा, 2019 में तमिलनाडु के महाबलीपुरम में पीएम मोदी खुद तट से कूड़ा कचरा उठाते नजर आए थे.

READ More...  कोरोना संक्रमित हरीश रावत की तबीयत बिगड़ी, एयर एम्बुलेंस से लाए गए दिल्ली के एम्स

प्रगति मैदान इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की बात करें तो इसे 923 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है. प्रगति मैदान मेन टनल की कुल लंबाई 1.6 किलोमीटर है. यहां 6 लेन हैं. इस टनल को 7 अलग-अलग रेलवे लाइन के अंदर से बनाया गया है. इसके जरिए इंडिया गेट और सेंट्रल दिल्ली के कई इलाके पूर्वी दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद से जुड़ गए हैं. इसके शुरू होने से आइटीओ, मथुरा रोड और भैरों मार्ग से प्रतिदिन गुजरने वाले दिल्ली-एनसीआर के करीब डेढ़ लाख लोगों को जाम से छुटकारा मिलेगा.

उद्घाटन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह नया भारत है. समस्याओं का समाधान भी करता है. नए संकल्प भी लेता है और उन संकल्पों को सिद्ध करने के लिए प्रयास भी करता है. उन्होंने कहा कि आज दिल्ली को केंद्र सरकार की तरफ से आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर का बहुत सुंदर उपहार मिला है. इतने कम समय में इस कॉरोडोर को तैयार करना आसान नहीं था. जिन सड़कों के आसपास यह कॉरिडोर बना है, वे सड़कें दिल्ली की सबसे व्यस्त सड़कें हैं. दिल्ली-एनसीआर की समस्याओं के समाधान के लिए बीते 8 सालों में केंद्र सरकार ने अभूतपूर्व कदम उठाए हैं.

Tags: Delhi, Narendra modi, PM Modi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)