e0a4a4e0a587e0a4b2e0a482e0a497e0a4bee0a4a8e0a4be e0a495e0a58b e0a4aee0a4bfe0a4b2 e0a4b8e0a495e0a4a4e0a580 e0a4b9e0a588 e0a485e0a497
e0a4a4e0a587e0a4b2e0a482e0a497e0a4bee0a4a8e0a4be e0a495e0a58b e0a4aee0a4bfe0a4b2 e0a4b8e0a495e0a4a4e0a580 e0a4b9e0a588 e0a485e0a497 1

हाइलाइट्स

दीवाली के आसपास शुरू होगी ये नई इस वंदे भारत ट्रेन.
यह तीसरी वंदे भारत ट्रेन होगी जो पटरी पर दौड़ेगी.
इस ट्रेन को 180 किलोमीटर तक की रफ्तार से चलाया जाएगा.

नई दिल्ली. भारत की अगली वंदे भारत ट्रेन तेलंगाना राज्य को मिल सकती है. यह तीसरी ट्रेन होगी जो पटरी पर दौड़ेगी. इससे पहले नई दिल्ली से वाराणसी और नई दिल्ली से कटरा के बीच दो वंदे भारत ट्रेन चल रही हैं. नई वंदे भारत ट्रेन को और ज्यादा सुविधाजनक बनाया गया है. यह ट्रेन आईसीएफ चेन्नई में बन रही है और इसका ट्रायल अगले महीने यानी अगस्त के मध्य में शुरू होगा.

यह ट्रायल कोटा नागदा सेक्शन में होगा. इस दौरान ट्रेन को 180 किलोमीटर तक की रफ्तार से चलाया जाएगा.  दो से तीन परीक्षणों में सफलता के बाद नई वंदे भारत ट्रेन को वाणिज्यिक संचालन के लिए मंजूरी दी जा सकती है. आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर भारत में 15 अगस्त 2023 तक 75 वंदे भारत ट्रेन चलाई जाएंगी. वंदे भारत ट्रेन फिलहाल चेन्नई के इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में इसका स्टैटिक ट्रायल होगा, उसके बाद इसे पटरी पर ट्रायल के लिए उतारा जाएगा.

दिवाली के आसपास यह ट्रेन शुरू हो जाएगी
करीब दो महीने के ट्रायल के बाद इस ट्रेन का कमर्शियल रन शुरू किया जाएगा. माना जा रहा है की दिवाली के आसपास यह ट्रेन शुरू हो जाएगी. सूत्रों के मुताबिक अगली वंदे भारत ट्रेन दक्षिण भारत को दी जाएगी और इसमें तेलंगाना का नंबर सबसे ऊपर है. उसके बाद देश के अलग-अलग इलाकों में लगातार नई बनने वाली वंदे भारत ट्रेन चलाई जाएगी. वंदे भारत ट्रेन शताब्दी ट्रेनों को रिप्लेस करने के लिए तैयार की जा रही हैं. यानी ये इंटरसिटी ट्रेन होंगी, जो दो शहरों के बीच चलेंगी.

READ More...  अलर्ट! Akasa Air के डेटा में लगी सेंध, कंपनी ने नोडल एजेंसी CERT-In को दी जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिखा सकते हैं हरी झंडी
रेलवे के सूत्रों के अनुसार, सेमी हाई स्पीड (160-200 किलोमीटर प्रति घंटा) वंदे भारत का परीक्षण 15 अगस्त से पहले शुरू कर दिया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चेन्नई से ट्रेन को हरी झंडी दिखा सकते हैं. हालांकि, इसकी अभी पुष्टि होनी बाकी है.

75 वंदे भारत की योजना
रेलवे ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री मोदी की घोषणा के अनुरूप 15 अगस्त, 2023 तक वंदे भारत की 75 ट्रेनें पटरियों पर दौड़ना शुरू कर देंगी. आईसीएफ की हर महीने छह से सात वंदे भारत रैक (ट्रेन) की उत्पादन क्षमता है और इस संख्या को बढ़ाकर 10 करने का प्रयास किया जा रहा है.

इसके अलावा वंदे भारत ट्रेनों का निर्माण कपूरथला में रेल कोच फैक्ट्री और रायबरेली में मॉडर्न कोच फैक्ट्री में भी किया जाएगा. सूत्रों ने बताया कि नयी वंदे भारत ट्रेन में यात्रियों के लिए सुरक्षा और आरामदायक सुविधाओं समेत कई पहलुओं पर ध्यान दिया गया है. वर्तमान में वंदे भारत ट्रेन का संचालन दिल्ली से कटरा और दिल्ली से वाराणसी के बीच किया जा रहा है.

Tags: Indian Railway news, Railway News, Train, Vande bharat train, Vande Bharat Trains

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)