e0a4a6e0a4bfe0a4b2e0a58de0a4b2e0a580 e0a48fe0a4a8e0a4b8e0a580e0a486e0a4b0 e0a4aee0a587e0a482 e0a491e0a4abe0a4bfe0a4b8 e0a495e0a580
e0a4a6e0a4bfe0a4b2e0a58de0a4b2e0a580 e0a48fe0a4a8e0a4b8e0a580e0a486e0a4b0 e0a4aee0a587e0a482 e0a491e0a4abe0a4bfe0a4b8 e0a495e0a580 1

नई दिल्ली . राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र-दिल्ली (दिल्ली-एनसीआर) में सबसे अधिक 28.5 प्रतिशत ऑफिस की जगह खाली है. पुणे में कार्यालयों के लिए सबसे कम केवल 8.5 प्रतिशत जगह बची हुई है. इसकी मुख्य वजह सूचना प्रौद्योगिकी और संबंधी (आईटी सेक्टर) क्षेत्रों से अच्छी जगह की मांग का अधिक होना है. संपत्ति सलाहकार कंपनी एनरॉक ने यह जानकारी दी.

देश के सात प्रमुख शहरों में प्रथम श्रेणी के ऑफिस स्पेस के आंकड़ों के अनुसार, चेन्नई में कार्यालयों के लिए 10.35 प्रतिशत, बेंगलुरु में 11.25 प्रतिशत और हैदराबाद में 15 प्रतिशत जगह या स्थान बाकी है. एनरॉक ने एक बयान में कहा कि सात प्रमुख शहरों में एनसीआर में कार्यालय संपत्ति की जगह सबसे अधिक 28.5 प्रतिशत खाली है.

यह भी पढ़ें- अब करीबी रिश्‍तेदार को संपत्ति ट्रांसफर करने पर नहीं चुकानी होगी स्‍टॉम्‍प ड्यूटी, समझिए नियम-कानून

आईटी सेक्टर ने दी रफ्तार
ऑफिस स्पेस को भरने में सबसे ज्यादा मदद आईटी सेक्टर से मिल रही है. इसके बाद कोलकाता में 23.5 प्रतिशत और मुंबई महानगर (एमएमआर) क्षेत्र में करीब 16 प्रतिशत कार्यालय की जगह खाली है. एनारॉक ने कहा, ‘‘काविड-19 महामारी के दौरान सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) या आईटीईएस सबसे तेजी से बढ़ने वाले क्षेत्रों में से एक रहा. इस क्षेत्र ने देश के शीर्ष चार आईटी/आईटीईएस संचालित शहरों में प्रथम श्रेणी वाले कार्यालय की जगह को भरने में मदद की.’’

बेंगलुरु में सबसे ज्यादा जगह
आंकड़ों के अनुसार, बेंगलुरु में प्रथम श्रेणी वाली कार्यालयों की सबसे अधिक लगभग 16.8 करोड़ वर्ग फुट जगह है. इसके बाद दिल्ली-एनसीआर में 12.8 करोड़ वर्ग फुट, मुंबई महानगर में 10.8 करोड़ वर्ग फुट, हैदराबाद में आठ करोड़ वर्ग फुट, पुणे में छह करोड़ वर्ग फुट और चेन्नई में 5.5 करोड़ वर्ग फुट तथा कोलकाता में 2.5 करोड़ वर्ग फुट जगह है.

READ More...  Stock Market: 52 हफ्ते के लो पर आया शेयर बाजार, जानिए पांच वजह

यह भी पढ़ें- MCD ने प्रॉपर्टी टैक्‍स भरने वालों को दी बड़ी राहत, स‍िर्फ 30 जून तक म‍िलेगा इस योजना का लाभ

कोरोना महामारी की वजह से ज्यादा बड़ी कंपनियां वर्क फ्रॉम होम मॉडल पर काम कर रही थीं. अब हालात थोड़े सामान्य होने पर ऑफिस खुलने लगे हैं. कंपनियां हाइब्रिड मॉडल पर काम कर रही हैं. ऑफिस खुलने की वजह से एक बार फिर इस सेक्टर में मांग देखी जा रही है. बहुत सारी कंपनियों ने अपने ऑफिस खाली कर दिए थे. अब वे वापस लौट रहे हैं.

Tags: Delhi, Office, Real estate

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)