e0a4a6e0a4bfe0a4b2e0a58de0a4b2e0a580 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b0e0a58be0a49ce0a4bee0a4a8e0a4be e0a486e0a4a4e0a587 e0a4b9e0a588e0a482 5
e0a4a6e0a4bfe0a4b2e0a58de0a4b2e0a580 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b0e0a58be0a49ce0a4bee0a4a8e0a4be e0a486e0a4a4e0a587 e0a4b9e0a588e0a482 5 1

नई दिल्‍ली. दिल्‍ली की बदहाल सड़कों, चरमराती ट्रैफिक व्यवस्था, सड़कों पर चलने का जोखिम और लोगों में ट्रैफिक नियम अक्सर न पालने की प्रवृति को दिल्ली के विकास के लिए बेहद खतरनाक बताते हुए कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ( कैट) ने आज केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी को एक पत्र लिखा है. जिसमें कैट ने मांग की है कि दिल्ली देश की राजधानी है, इस दृष्टि से दिल्ली में सड़कों के योजनाबद्द विकास के लिए वो दिल्ली के उस मामले को स्वयं देखें और दिल्ली की सड़कों का ऑडिट कराने के लिए एक रोडमैप तैयार करें. इस पत्र की प्रति कैट ने केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी और दिल्ली के उपराज्यपाल वी के सक्सेना को भी भेजी है.

गडकरी को भेजे पत्र में कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गडकरी ने जिस प्रकार से पूरे देश में सड़क परिवहन का जाल इतने कम समय में न केवल बिछाया है बल्कि दूरियों को कम भी किया और सड़क एक्सीडेंट से बचाव के सभी उपाय भी किए गए हैं. कुछ मामलों में तो विश्व रिकॉर्ड भी बनाया गया है.

खंडेलवाल ने कहा कि इतने विराट अनुभव और इच्छाशक्ति के आगे दिल्ली की सड़कों का मामला बेहद छोटा है लेकिन दिल्ली में हर दिन 5 लाख से ज्‍यादा व्यक्ति अन्य राज्यों से आते हैं, बड़ी गाड़ियों की संख्या में वृद्धि हो रही है, माल परिवहन भी बढ़ता जा रहा है और सबसे मुख्य दिल्ली के तीनों मास्टर प्लान में सड़कों के विकास को लेकर बनाई किसी भी योजना पर कभी कोई काम ही नहीं हुआ, इसलिए दिल्ली ट्रैफिक के आतंक से त्रस्त है. बिना किसी ठोस योजना के सड़कों का बनाना, घटिया माल से बनी सड़कें, लगातार हो रहे एक्सीडेंट आदि ने दिल्ली के लोगों की लाइफ की अनिश्चित कर दिया है.

READ More...  GST स्‍लैब में बदलाव पर मंत्रिसमूह की बैठक में नहीं बनी आम सहमति

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

कैट ने गडकरी को दिल्ली के व्यापारी संगठनों की ओर से पूर्ण सहयोग का विश्वास दिलाते हुए उनके तुरंत हस्तक्षेप का आग्रह किया है जिससे दिल्ली के लोगों का न केवल जीवन बचाया जा सके बल्कि दिल्ली में एक स्थान से दूसरे स्थान तक कम समय में सुगमता से जाता जा सके. कैट ने इस विषय पर गडकरी से मिलने का समय भी मांगा है.

खंडेलवाल ने कहा कि सड़कें किसी भी शहर की लाइफ लाइन होती हैं किंतु देश की राजधानी होने के बावजूद भी दिल्ली में कभी सड़कों के निर्माण, क्वालिटी, कहां कैसी सड़क की आवश्यकता है, ऐसे किसी भी विषय पर कभी कोई गंभीर चर्चा हुई नहीं, हर मास्टर प्लान में सड़कों पर अनेक प्रावधान बनाए गये लेकिनकभी किसी विभाग ने उस तरफ देखा ही नहीं, अफसरशाही ने मनमानी की और नेता आंख मूंद कर सोते रहे. लोगों की जान की कोई कीमत शासन की निगाह में नहीं है. ऐसे में अगर गडकरी दिल्ली को एक प्रोजेक्ट के रूप में लेते हैं तो दिल्ली के लोगों का भरोसा है कि वो बेहद कम समय में इस मसले को हल कर देंगे.

Tags: Confederation of All India Traders

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)