e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482 e0a49ce0a4b2e0a58de0a4a6 e0a4b2e0a589e0a4a8e0a58de0a49a e0a4b9e0a58be0a497e0a580 e0a495e0a58b
e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482 e0a49ce0a4b2e0a58de0a4a6 e0a4b2e0a589e0a4a8e0a58de0a49a e0a4b9e0a58be0a497e0a580 e0a495e0a58b 1

पेरिस. कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है. इस वायरस को मात देने के लिए अब तक दुनिया में किसी भी ठोस दवा का ईज़ाद नहीं किया गया है. लिहाजा इससे बचाव के लिए फिलहाल वैक्सीन ही एक मात्र हथियार है. ऐसे में देश के लिए अच्छी खबर ये है कि जल्द ही कोरोना से लड़ने के लिए नेज़ल वैक्सीन लॉन्च की जाएगी. एक ऐसी वैक्सीन जिसे नाक के जरिए दिया जाएगा. भारत बायोटेक ने इस वैक्सीन को लेकर अपने तीसरे फेज का ट्रायल पूरा कर लिया है. यानी अब ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से जल्द ही इस वैक्सीन को हरी झंडी मिल सकती है.

भारत बायोटेक के मुताबिक कंपनी ने तीसरे फेज का ट्रायल पूरा कर लिया है और अगले महीने इसके डेटा DCGI के पास जमा किए जाएंगे. समाचार एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए भारत बायोटेक के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक डॉक्टर कृष्णा एला ने कहा, ‘हमने क्लीनिकल ट्रायल पूरा कर लिया है. फिलहाल डाटा एनालिसिस का काम चल रहा है. अगले महीने इसके डेटा को DCGI के पास जमा कर दिया जाएगा. अगर सबकुछ ठीक रहा तो हमें इस वैक्सीन को लॉन्च करने की परमिशन मिल जाएगी. ये दुनिया की पहली नेज़ल वैक्सीन होगी.’

जनवरी में ट्रायल को मिली थी मंजूरी
बता दें कि कृष्णा एला इन दिनों पेरिस में हैं. वो वहां वाइवा टेक्नोलॉजी 2022 में भाग लेने पहुंचे है, उन्होंने लोगों को वैक्सीन की बूस्टर डोज़ लेने की भी अपील की. इस साल जनवरी में DCGI ने भारत बायोटेक को नेजल कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल की मंजूरी दी थी. कहा जा रहा है कि पहले दो फेज के नतीजे अच्छे आए हैं.

READ More...  श्रीलंका के हालात हुए बदतर, सिर्फ दो वक्त के खाने के लिए हजारों बेरोजगार कर रहे विरोध प्रदर्शन

नेज़ल वैक्सीन ज्याद असरदार
दावा किया जा रहा है कि नेज़ल वैक्सीन आम वैक्सीन के मुकाबले काफी ज्यादा असरदार है. इसकी वजह ये है कि इस वैक्सीन को नाक के जरिए दी जाती है. आमतौर पर कोरोना वायरस नाक के जरिए ही लोगों पर हमला करता है. लिहाजा इस वैक्सीन से नाक में सबसे पहले एंटीबॉडीज बनेंगी. इससे वायरस का सांस के जरिए फेफड़ों तक पहुंचना मुश्किल हो जाएगा. दावा किया जा रहा है कि नेजल वैक्सीन लेने से वायरस फेफड़ों तक नहीं पहुंच पाएगा.

Tags: Bharat Biotech, Covid-19 vaccine

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)