e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ace0a4a2e0a4bce0a4a4e0a587 e0a495e0a58be0a4b0e0a58be0a4a8e0a4be e0a495e0a587 e0a496e0a4a4
e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ace0a4a2e0a4bce0a4a4e0a587 e0a495e0a58be0a4b0e0a58be0a4a8e0a4be e0a495e0a587 e0a496e0a4a4 1

नई दिल्ली. चीन में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के साथ ही भारत में भी लोगों की चिंता एक बार फिर से बढ़ने लगी है. हालांकि केंद्र सरकार देश में कोरोना फिर से न बढ़े इसके लिए पहले से ही एहतियात बरत रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल के आखिरी मन की बात कार्यक्रम में लोगों से इस खतरे से सतर्क रहने की सलाह दी है. लेकिन अब तक कोरोना के नए खतरे को लेकर सरकार ने क्या क्या किया है. आईये जानते हैं.

इन देशों से आने वाले लोगों के लिए अनिवार्य आरटी-पीसीआर टेस्ट
कोविड से बचाव के नियमों की श्रंखला में चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर और थाईलैंड से आ रहे लोगों को अनिवार्य रूप से आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा. इसके साथ ही राज्यों से 27 दिसंबर को मॉक ड्रिल करने के लिए भी कहा गया है ताकि मेडिकल ऑक्सीजन जेनेरेशन प्लांट्स समेत स्वास्थ्य सुविधाओं की तैयार सुनिश्चित की जा सके.

शनिवार से दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, अहमदाबाद, पुणे, इंदौर और गोवा आदि अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डों पर रैंडम टेस्टिंग शुरू कर दी गई है. इसमें हर एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों में से दो प्रतिशत की जांच की जाएगी. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि चीन और अन्य चार देशों से आने वाले लोगों के टेस्टिंग में संक्रमित पाए जाने पर उन्हें क्वारंटीन किया जाएगा.

कोविड ​​-19 महामारी की स्थिति के मद्देनजर, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर और बैंकॉक (थाईलैंड) के यात्रियों को अपनी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट भारत की यात्रा के लिए अपलोड करनी होगी.

READ More...  पाकिस्तान की अदालत ने पैदल हज करने के इच्छुक भारतीय की वीजा याचिका खारिज की

मंडाविया ने गुजरात के गांधीनगर में संवाददाताओं से कहा, “भारत में लैंड करने के बाद, उन्हें थर्मल स्क्रीनिंग करानी होगी और पॉजिटिव पाए जाने या बुखार आने पर उन्हें क्वारंटीन में रखने का आदेश जारी किया है.”

ये भी पढ़ें- चीन में कोरोना के कहर ने भारत में भी बढ़ाई चिंता, केंद्र ने राज्यों को दिये नए निर्देश

एयर सुविधा पोर्टल
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इन देशों से आने वाले यात्रियों के लिए अपनी स्वास्थ्य स्थिति बताने के लिए ‘एयर सुविधा’ फॉर्म भरना अनिवार्य किया जाएगा.

एयर सुविधा पोर्टल अगस्त 2020 में लॉन्च किया गया था जिसके माध्यम से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को अपनी यात्रा, कोविड टीकाकरण और परीक्षण की स्थिति का विवरण प्रस्तुत करना था लेकिन इस साल नवंबर में इसे बंद कर दिया गया.

मामलों में कमी और व्यापक टीकाकरण के चलते, नवंबर तक अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए अनिवार्य आरटी-पीसीआर परीक्षण भी बंद कर दिए गए थे.

मांडविया ने कहा कि केंद्र सरकार कोविड-19 के खिलाफ कदम उठा रही है क्योंकि दक्षिण कोरिया, हांगकांग, यूरोप, अमेरिका और ब्राजील जैसी जगहों पर मामले बढ़ रहे हैं.

ऑक्सीजन की उपलब्धता पर है जोर
अप्रैल 2021 में कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान देश के सामने आई विपत्ति की यादें अभी भी दिमाग में ताजा हैं. केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा कि ऑक्सीजन से संबंधित मुद्दों और चुनौतियों के तुंरत समाधान के लिए ऑक्सीजन कंट्रोल रूम को फिर से मजबूत किया जाना चाहिए. साथ ही मामलों में किसी भी उछाल के कारण स्वास्थ्य ​​देखभाल की जरूरतों में वृद्धि को पूरा करने के लिए कोविड-19 स्वास्थ्य सुविधाओं की तत्परता सुनिश्चित करने के लिए मंगलवार को सभी स्वास्थ्य सुविधाओं पर मॉक ड्रिल आयोजित की जानी चाहिए.

READ More...  'इंसान हूं, इसलिए आहत हुआ'- गहलोत के 'गद्दार' वाले कमेंट पर सचिन पायलट ने दिया जवाब

ये भी पढ़ें- China Covid Crisis: चीन की 18% आबादी कोरोना संक्रमित! अभी और खराब होंगे हालात, हर रोज आएंगे 42 लाख केस

राज्यों के लिए चेकलिस्ट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों को कोविड की स्थिति पर कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए हैं और साथ ही कहा है कि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर चल रहे निगरानी उपायों को मजबूत किया जाए.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि प्रेशर स्विंग एडजॉर्शन (पीएसए) ऑक्सीजन पैदा करने वाले संयंत्रों को पूरी तरह चालू रखा जाए और उनकी जांच के लिए नियमित मॉक ड्रिल आयोजित की जाएं.

जमीन पर स्थिति क्या है?
मंडाविया ने एक ट्वीट भी किया, जिसमें कहा गया है, “दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर चीन, हांगकांग, बैंकॉक, जापान, दक्षिण कोरिया सहित अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों की सैंपल टेस्टिंग शुरू की गई है. कोरोनावायरस की बढ़ती स्थिति को देखते हुए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं.” शनिवार को दोहा से चेन्नई हवाई अड्डे पर इंडिगो की फ्लाइट से पहुंचे एक यात्री ने कहा कि हवाई अड्डे पर कोविड परीक्षण प्रक्रिया सही से हो रही थी.

चेन्नई हवाईअड्डे ने अपने अनुभव साझा करते हुए यात्री की एक वीडियो क्लिप ट्वीट की और कहा कि वह “बिना किसी परेशानी के हो रही टेस्टिंग की प्रक्रिया से खुश हैं.”

नागरिक उड्डयन मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में 29 अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे हैं और 23 दिसंबर को यहां पहुंचने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की संख्या 87,966 थी.

दिल्ली एयरपोर्ट की ओर से जानकारी दी गई है कि उसके कर्मचारी फिर से इस जिम्मेदारी को संभालने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. साथ ही सभी लोगों से सहयोग करने की अपील की गई है. गाइडलाइंस के मुताबिक सैंपल जमा करने के बाद संबंधित अंतरराष्ट्रीय यात्री एयरपोर्ट से निकल सकते हैं.

READ More...  जम्मू-कश्मीर: अमित शाह ने कहा- पहले यह आतंकी हॉटस्पॉट था, अब यह टूरिज्म हॉटस्पॉट है

Tags: Coronavirus, COVID 19

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)