e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b2e0a58be0a495e0a4a4e0a482e0a4a4e0a58de0a4b0 e0a494e0a4b0 e0a4b8e0a58de0a4b5e0a4a4e0a482
e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b2e0a58be0a495e0a4a4e0a482e0a4a4e0a58de0a4b0 e0a494e0a4b0 e0a4b8e0a58de0a4b5e0a4a4e0a482 1

हाइलाइट्स

उद्धव गुट के नेता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल ‘मैला’ हो गया है.
संजय राउत ने कहा कि लोकतंत्र और स्वतंत्रता का अब अस्तित्व नहीं है, इनका सिर्फ नाम रह गया है.
हाल ही में धन शोधन मामले में संजय राउत को जमानत मिली है.

मुंबई. शिवसेना सांसद संजय राउत ने रविवार को दावा किया कि महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल ‘मैला’ हो गया है, जहां कई लोग एक-दूसरे को हमेशा के लिये ‘समाप्त’ करने के लिए निकले हैं. राउत ने कहा कि नौ नवंबर को जेल से बाहर आने के बाद फिर से उन्हें ऐसा अनुभव हुआ. राज्यसभा सदस्य राउत को प्रवर्तन निदेशालय ने गत एक अगस्त को धन शोधन के एक मामले में गिरफ्तार किया था और नौ नवंबर को मुंबई की एक अदालत ने उन्हें जमानत दे दी थी.

रविवार से राउत ने पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ में अपना स्तंभ ‘रोखठोक’ फिर से लिखना शुरू किया है. राउत ने दावा किया, ‘नफरत की भावना के साथ नेता अब एक ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं, जहां वे नहीं चाहते कि उनके विरोधी जीवित भी रहें. महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल मैला हो गया है, जहां लोग एक-दूसरे को हमेशा के लिये समाप्त करने निकले हैं.’

उन्होंने दावा किया, ‘जब मुझसे (महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता) देवेंद्र फडणवीस की टिप्पणी के बारे में पूछा गया कि राजनीति में कड़वाहट खत्म होनी चाहिये, तो मैंने जवाब दिया कि वह सच बोल रहे हैं, इस पर मीडिया कहने लगा कि मैंने नरम रुख अपना लिया है.’ शिवसेना नेता ने दावा किया, ‘लोकतंत्र और स्वतंत्रता का अब अस्तित्व नहीं है, इनका सिर्फ नाम रह गया है. राजनीति विषैली हो गई है. ब्रिटिश शासन के दौरान भी ऐसा नहीं था.’

READ More...  अमरनाथ हादसा: बड़े पैमाने पर रेस्क्यू ऑपरेशन, प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन और टोल फ्री नंबर

उन्होंने आरोप लगाया, ‘दिल्ली के मौजूदा शासक अपने मन मुताबिक बात सुनना चाहते हैं. ऐसा न करने वालों को दुश्मन माना जाता है.’ राउत ने कहा, ‘‘चीन, पाकिस्तान दिल्ली के दुश्मन नहीं हैं, लेकिन जो सच बोलते हैं, उन्हें दुश्मन माना जाता है और ऐसे राजनेता देश का कद घटाते हैं.’

Tags: Maharashtra, Sanjay raut

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)