e0a4aae0a482e0a49ce0a4bee0a4ac e0a4aee0a587e0a482 424 e0a4b9e0a4b8e0a58de0a4a4e0a4bfe0a4afe0a58be0a482 e0a495e0a580 e0a4b8e0a581
e0a4aae0a482e0a49ce0a4bee0a4ac e0a4aee0a587e0a482 424 e0a4b9e0a4b8e0a58de0a4a4e0a4bfe0a4afe0a58be0a482 e0a495e0a580 e0a4b8e0a581 1

चंडीगढ़: सिद्धू मूसेवाला की हत्या (Sidhu Moose Wala Murder) के बाद पंजाब की भगवंत मान सरकार 424 लोगों की सुरक्षा फिर से बहाल करेगी. पंजाब सरकार ने यह फैसला पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की फटकार के बाद लिया. भगवंत मान सरकार ने हाईकोर्ट से कहा कि वह उन सभी 424 लोगों को फिर से सिक्योरिटी मुहैया कराएगी. इन सभी वीआईपी को 7 जून से सुरक्षा दी जाएगी.

इससे पहले पंजाब सरकार ने इन सभी लोगों से सुरक्षा वापस ले ली थी और इसके एक दिन बाद 29 मई को अज्ञात हमलावरों ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी थी. मूसेवाला भी उन लोगों में शामिल थे जिनके पास सरकार द्वारा दी गई सिक्योरिटी थी.

सिद्धू मूसेवाला को चार सुरक्षाकर्मी मिले हुए थे लेकिन पंजाब सरकार ने उनकी सुरक्षा में लगे दो कमांडो कम कर दिए. मान सरकारने जिन लोगों की सुरक्षा वापस ली थी उनमें कई दल के नेता, पूर्व मंत्री और सेलिब्रिटीज शामिल हैं.

इनमें अकाल तख्त के पूर्व जत्थेदार, पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, गुरदर्शन बराड़, आईपीएस गुरदर्शन सिंह और उदयबीर सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और उनके परिवार के सदस्यों को भी वीआईपी सुरक्षा मिली थी. उच्च न्यायालय ने पंजाब सरकार से कहा कि, वह पहले इन लोगों की सुरक्षा बहाल करे और इन लोगों के खतरे की समीक्षा करने के बाद कोई फैसला ले.

सुरक्षा में कटौती की खबर कैसे लीक हुई: HC

उधर भगवंत मान सरकार ने हाईकोर्ट को बताया कि, उसने इन लोगों की सुरक्षा हमेशा के लिए नहीं बल्कि कुछ समय के लिए हटाई थी. कोर्ट ने सरकार से यह सवाल भी किया कि लोगों की सुरक्षा में कटौती की खबर कैसे लीक हुई. इसके जवाब में सरकार ने कहा कि आगे से वह ऐसे पुख्ता इंतजाम करेगी कि रिपोर्ट लीक न हो.

READ More...  T20 WC: अब करिश्मा ही बचा सकता है! टीम इंडिया को,कोहली की सेना मुँह के बल गिरी..

सिद्धू मूसेवाला की हत्या से पंजाब में बढ़ी गैंगवॉर की आशंका, दो गैंगस्टर्स के निशाने पर बिश्नोई गैंग

वहीं सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के बाद उपजे सियासी संकट के बीच नई दिल्ली में आज मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल से उनके आवास पर मुलाकात की. आम आदमी पार्टी के सूत्रों के मुताबिक यह एक सामान्य मुलाकात थी.

भगवंत मान सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जांच के लिए पहले ही उच्च न्यायालय के एक मौजूदा न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक न्यायिक आयोग के गठन की घोषणा कर चुके हैं.

भाषा से इनपुट के साथ

Tags: Bhagwant Mann, Sidhu Moose Wala

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)