e0a4aae0a4a2e0a4bce0a4bee0a488 e0a4aee0a587e0a482 e0a4aee0a4a8 e0a4a8e0a4b9e0a580e0a482 e0a4b2e0a497e0a4a8e0a587 e0a495e0a587 e0a4aa
e0a4aae0a4a2e0a4bce0a4bee0a488 e0a4aee0a587e0a482 e0a4aee0a4a8 e0a4a8e0a4b9e0a580e0a482 e0a4b2e0a497e0a4a8e0a587 e0a495e0a587 e0a4aa 1

हाइलाइट्स

ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि चंद्रमा मन को प्रभावित करता है.
चंद्रमा का संबंध शिक्षा के साथ भी होता है.

Astrology Tips : वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर, व्यक्ति की क्षमता और बुद्धि का संबंध ग्रहों और नक्षत्रों के साथ होता है. ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि चंद्रमा और बुध ग्रह का संबंध मनुष्य की एकाग्रता से होता है. चंद्रमा मन को प्रभावित करता है. तो बुध ग्रह मस्तिष्क को, कई बार देखा जाता है कि सारी सुख सुविधाओं के मिलने के बाद भी कुछ बच्चे पढ़ाई में कमजोर होते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, बच्चों के पढ़ाई में कमजोर होने के पीछे इन्हीं ग्रहों को जिम्मेदार बताया गया है. कुंडली में इन ग्रहों के दोष का असर मनुष्य के शैक्षणिक स्तर और करियर में असफलता का कारण बनता है. इसके उपाय के बारे में बता रहे हैं भोपाल के रहने वाले ज्योतिषी एवं पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा.

बुध ग्रह का प्रभाव

ज्योतिष शास्त्र मानता है कि जब किसी व्यक्ति की जन्म कुंडली में छठे, आठवें या फिर बारहवें भाव में बुध ग्रह विराजमान होता है और इस पर बृहस्पति की दृष्टि पड़े तो ऐसे में व्यक्ति की शिक्षा में काफी परेशानियां आती है, और इनकी शिक्षा अधूरी छूटने की आशंका बनी रहती है. व्यक्ति काफी मेहनत करने के बाद भी करियर में अच्छा मुकाम हासिल नहीं कर पाता.

यह भी पढ़ें – इन 3 राशि के जातकों को हमेशा पड़ती है बॉस की डांट

चन्द्रमा का प्रभाव

ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि चंद्रमा मन को प्रभावित करता है. इसके अलावा चंद्रमा का संबंध शिक्षा के साथ भी होता है. यदि किसी व्यक्ति की कुंडली चंद्रमा दोष से पीड़ित है तो ऐसे में उस व्यक्ति को शिक्षा के लिए संघर्ष करना पड़ता है, लेकिन यदि जन्म कुंडली में चंद्रमा जिस घर में बैठा हो उस घर पर देव गुरु बृहस्पति की नजर हो तो परिणाम ज्यादा बुरे नहीं होते

READ More...  आज का राशिफल, 20 नवंबर 2022: मेष राशि वाले पुण्य का काम करेंगे, वृष, मिथुन राशि वाले पानी वाली जगहों पर ना जाएं

यह भी पढ़ें – इन 3 राशि के जातकों को शनि देव कभी नहीं करते परेशान

क्या करें उपाय

ज्योतिष शास्त्र में इन ग्रहों के अशुभ प्रभावों को कम करने के लिए कुछ उपाय बताए गए हैं.
-प्रात काल उठकर तुलसी के पत्तों का सेवन करना चाहिए साथ ही “ऊँ ऐं सरस्वतयै नमः” का जप करें.
-हर बुधवार को भगवान गणेश को दूर्वा चढ़ाएं.
-एकाग्रता को बेहतर बनाने के लिए पन्ना रत्न धारण करें, लेकिन किसी विद्वान ज्योतिष की सलाह अवश्य लें.
-सूर्य देव को जल अर्पित करें. हरी सब्जियों और सलाद का सेवन करें.
-रोज सुबह गायत्री मंत्र का जाप करें.
-हरे कपड़े पहनें. सुबह स्नान के बाद पीला चंदन माथे, कंठ और सीने पर लगाएं.

Tags: Astrology, Dharma Aastha, Religion

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)