e0a4aae0a581e0a4a4e0a4bfe0a4a8 e0a4a8e0a587 e0a485e0a4aee0a587e0a4b0e0a4bfe0a495e0a4be e0a495e0a58b e0a4ace0a4a4e0a4bee0a4afe0a4be
e0a4aae0a581e0a4a4e0a4bfe0a4a8 e0a4a8e0a587 e0a485e0a4aee0a587e0a4b0e0a4bfe0a495e0a4be e0a495e0a58b e0a4ace0a4a4e0a4bee0a4afe0a4be 1

हाइलाइट्स

पुतिन ने अमेरिका को बताया रूस के लिए सबसे बड़ा खतरा
भारत से रणनीतिक संबंध बढ़ाने पर दिया जोर
नेवल डे के मौके पर पुतिन ने एक नए नौसैनिक सिद्धांत पर हस्ताक्षर किए

सेंट पीटर्सबर्ग. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने रविवार को कहा कि रूस के लिए सबसे बड़ा खतरा अमेरिका है. रूस की प्राथमिकता भारत के साथ रणनीतिक और नौसैनिक सहयोग बढ़ाने के साथ ही ईरान, इराक, सऊदी अरब के साथ व्यापक सहयोग विकसित करना है. रूस के नेवल डे के मौके पर पुतिन ने एक नए नौसैनिक सिद्धांत पर हस्ताक्षर किए. जिसमें अमेरिका को रूस के लिए मुख्य खतरे के रूप में पेश किया गया है. इसमें आर्कटिक और काला सागर जैसे महत्वपूर्ण इलाकों के लिए रूस की वैश्विक समुद्री महत्वाकांक्षाओं को भी बताया गया है.

न्यूज एजेंसी रायटर्स की एक खबर के मुताबिक सेंट पीटर्सबर्ग में रूस के नौसेना दिवस पर पुतिन ने एक छोटा भाषण दिया. जिसमें उन्होंने कहा कि जिरकोन हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइलों जैसे हथियारों के बल पर रूस के पास किसी भी संभावित हमलावर को हराने के लिए सैन्य ताकत मौजूद है. अपने भाषण से कुछ समय पहले पुतिन ने एक नए 55-पेज के नौसैनिक सिद्धांत पर हस्ताक्षर किए. उन्होंने कहा कि रूस के लिए मुख्य खतरा दुनिया के महासागरों पर हावी होने की अमेरिका की रणनीति और नाटो सैन्य गठबंधन का रूस की सीमाओं के करीब फैलते जाना है.

पुतिन का वो खास विमान जिसका बालबांका नहीं कर सकता कोई

रूस के नए नौसैनिक सिद्धांत में यह स्वीकार किया गया है कि रूस के पास विश्व स्तर पर पर्याप्त नौसैनिक ठिकाने नहीं हैं. इसलिए रूस की प्राथमिकता भारत के साथ रणनीतिक और नौसैनिक सहयोग बढ़ाने के साथ-साथ ईरान, इराक, सऊदी अरब और क्षेत्र के अन्य राज्यों के साथ व्यापक सहयोग विकसित करना है. पुतिन ने अपने भाषण में यूक्रेन में जारी जंग का उल्लेख नहीं किया. लेकिन इस नए नौसैनिक सिद्धांत में काला सागर और अजोव सागर में रूस की भू-रणनीतिक स्थिति को बहुत मजबूत करने की परिकल्पना की गई है. गौरतलब है कि यूक्रेन से पिछले पांच महीनों से जारी रूस की जंग के कारण उसके और पश्चिमी दशों के बीच संबंधों में गहरा तनाव आ गया है. रूस की 37,650 किमी. (23,400 मील) की विशाल तटरेखा है, जो जापान सागर से लेकर काला सागर और कैस्पियन सागर तक फैली है.

READ More...  Sri Lanka: क्या रक्षा मंत्रालय ने दिए थे हिंसा के दौरान देखते ही गोली मारने के आदेश? PM विक्रमसिंघे ने दिया जवाब

Tags: America, NATO, Russia ukraine war, Ukraine, Vladimir Putin

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)