<पी>भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों की महिलाओं को एलपीजी गैस कनेक्शन प्रदान करने के लिए एक योजना शुरू की है । सरकार उन 1.13 करोड़ लोगों का पैसा खर्च करेगी, जिन्हें एलपीजी गैस कनेक्शन की सब्सिडी दी गई थी । बीपीएल महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन देने के लिए इस योजना का नाम प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना रखा गया है । भारत सरकार ने जनता के पक्ष में एक पहल कदम उठाया है जो अभी भी चुल्हा का उपयोग कर रहे हैं । भारत के प्रधान मंत्री ने उन लोगों के लिए एक योजना की घोषणा की थी जो अभी भी हानिकारक धुएं को सांस लेकर भोजन पका रहे हैं । डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, हर साल 5 लाख लोग हृदय रोग, फुफ्फुसीय रोगों आदि के कारण मरते हैं । इन लोगों की देखभाल के लिए, सरकार ने बीपीएल परिवारों की महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना शुरू की है । इस योजना से महिलाओं को चुल्हा से निकलने वाले हानिकारक धुएं से दूर रहने में मदद मिलेगी और जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 मई को उत्तर प्रदेश के बलिया और 15 मई को गुजरात के दाहोद में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का शुभारंभ करेंगे । इस योजना को शुरू करने के पीछे का कारण भारत में अशुद्ध खाना पकाने के ईंधन और इनडोर प्रदूषण के कारण होने वाली मौतों की संख्या को कम करना है । यह छोटे बच्चों में तीव्र श्वसन बीमारियों का मुख्य कारण है । प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना पर सरकार 1.13 करोड़ एलपीजी गैस उपभोक्ताओं से बचाए पैसे खर्च करेगी। यह राशि सरकार द्वारा कुकिंग गैस उपभोक्ताओं से बचाई जाती है, जो दे-दे-दे अभियान के तहत अपनी सब्सिडी छोड़ देते हैं । दे-दे-दे अभियान की शुरुआत से लेकर अब तक हर रोज कई लोगों ने रसोई गैस कनेक्शन पर अपनी सब्सिडी छोड़ दी है । सरकार ने वर्ष 2015 में यह अभियान शुरू किया था और शुरुआत के दिन से ही सरकार ने करीब 1.13 करोड़ की बचत की । जिन लोगों ने एलपीजी गैस सब्सिडी छोड़ दी है, वे बाजार मूल्य पर एलपीजी गैस सिलेंडर खरीद रहे हैं । जानकारी के अनुसार, सरकार बीपीएल परिवारों को लगभग 5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन प्रदान करेगी, जिनके लिए रु। सरकार द्वारा 8000 करोड़ का प्रस्ताव है। योजना के तहत तीन साल के भीतर सभी बीपीएल परिवारों को योजना के तहत कवर करने का लक्ष्य रखा गया है । यह योजना 2019 के लिए खोली जाएगी और इसे 2016-17, 2017-18 और 2018-19 के लिए वार्षिक आधारित योजना पर लागू किया जाएगा । 2016-17 के लिए पहले साल में करीब 1.5 करोड़ बीपीएल परिवारों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत कवर किया जाएगा ।

READ More...  भारत को पाक से मिली हार के बाद मोहम्मद शमी को ऑनलाइन गाली गलौज का शिकार होना पड़ा।

के रूप में दी गई जानकारी के अनुसारलेख मिल

, वर्ष 2016-17 के लिए सरकार ने एक बजटीय प्रावधान के रु. 2000 करोड़।

सरकार प्रदान करेगा एक केन्द्रीय सहायता के रूप में रु. प्रत्येक परिवार को रसोई गैस कनेक्शन के लिए 1600 और पात्र हितग्राहियों के बैंक खाते में राशि सीधे हस्तांतरित की जाएगी । प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से महिलाओं और उनके स्वास्थ्य को सशक्त बनाया जाएगा ।

के बारे में जानकारी की योजना में उपलब्ध है हिन्दी भाषा से प्राप्त किया जा सकता प्रधानमंत्री Ujjwala Uttam हिंदी में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.