e0a4aae0a58de0a4b0e0a4aee0a581e0a496 e0a4b8e0a58de0a4b5e0a4bee0a4aee0a580 e0a49ce0a580 e0a4aee0a4b9e0a4bee0a4b0e0a4bee0a49c
e0a4aae0a58de0a4b0e0a4aee0a581e0a496 e0a4b8e0a58de0a4b5e0a4bee0a4aee0a580 e0a49ce0a580 e0a4aee0a4b9e0a4bee0a4b0e0a4bee0a49c 1

नई दिल्‍ली. प्रमुख स्‍वामी जी महाराज शताब्‍दी समारोह उत्‍सव मेलबोर्न अस्‍ट्रेलिया के मार्वल स्‍टेडियम में आयोजित किया गया. इस मौके पर 7500 से अधिक लोग मौजूद रहे. उत्‍सव के दौरान 300 से अधिक स्‍वयं सेवकों द्वारा परिवार पर केन्द्रित स्‍टेज शो हुआ. जिसमें पारिवारिक सद्भाव के महत्‍व समझाते हुए, भारतीय संगीत और लघु कथाओं का मंचन किया गया. शो के बाद आरती और आतिशबाजी हुई.

शताब्‍दी समारोह उत्‍सव बीएपीएस (बोचासनवासी अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था) द्वारा आयोजित किया गया. इसकी तैयारी 700 स्वयंसेवकों ने छह माह पूर्व शुरू की थीं. शो के माध्‍यम से परिवार के सदस्यों को जोड़कर और एकजुट करके जीवन को बेहतर बनाने सीख दी गयी.

बीएपीएस के प्रवक्ता पार्थ पांड्या ने कहा कि बीएपीएस आज मेलबर्न मेट्रोपॉलिटन और क्षेत्रीय विक्टोरिया में लोगों की मौजूदगी से सम्मानित महसूस कर रहा है. कार्यक्रम ने माता-पिता को बच्चों के साथ अधिक समय बिताने और परिवार के सदस्यों के बीच नियमित रूप से एक-दूसरे के बेहतर ढंग से समझने के लिए प्रोत्साहित करके पारिवारिक एकता और सद्भाव का संदेश दिया है.

विक्टोरिया के कोषाध्यक्ष टिम पलास ने भारतीय समुदाय की बहुत प्रशंसा की. उन्‍होंने कहा कि “विक्टोरिया का हिंदू समुदाय महत्वपूर्ण हिस्सा है. आपके इतिहास, आपकी संस्कृति और आपके बलिदान ने आधुनिक विक्टोरिया को आकार देने में मदद की है, जिसे हम आज जानते हैं”.

यह आयोजन भगवान स्वामीनारायण के पांचवें उत्तराधिकारी, प्रमुख स्वामी जी महाराज के 100वें जन्म शताब्दी के अवसर पर किया जा रहा है. उनके जीवन और कार्य ने पारिवारिक एकता के सिद्धांतों को दर्शाया है. वो पूरे ऑस्ट्रेलिया में 50 से अधिक सामुदायिक और आध्यात्मिक केंद्रों के निर्माता और प्रेरक हैं. उनके योगदान से आस्‍ट्रेलिया के तमाम समुदाय एक साथ आए हैं.

READ More...  अब किम जोंग उन के कुत्ते ने मचा दी है खलबली! दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति के लिए बनी गले की हड्डी

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 14, 2022, 20:57 IST

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)