e0a4abe0a4bee0a4b0e0a58de0a4aee0a4be e0a489e0a4a6e0a58de0a4afe0a58be0a497 e0a495e0a4be e0a497e0a58de0a4b2e0a58be0a4ace0a4b2
e0a4abe0a4bee0a4b0e0a58de0a4aee0a4be e0a489e0a4a6e0a58de0a4afe0a58be0a497 e0a495e0a4be e0a497e0a58de0a4b2e0a58be0a4ace0a4b2 1

नई दिल्‍ली. फार्मा उद्योग के लिए ग्‍लोबल फार्मा शो और सम्‍मेलन फार्मालिटिका एक्‍सपो 1 जून से आयोजित किया जा रहा है. इसका लक्ष्‍य भारत में फार्मा उद्योग के बढ़ते व्यवसायों में नवाचारों के साथ कंपनियों को अपडेट रखना और 2030 तक 130 अरब डॉलर का उद्योग बनने का लक्ष्य हासिल करना होगा. तीन दिवसीय ( 1 जून से 3 तीन जून) एक्‍सपो बॉम्‍बे प्रदर्शनी केन्‍द्र में आयोजित किया जा रहा है.

इनफॉर्मा मार्केट्स, इंडिया प्रमुख प्रदर्शनी आयोजक, ‘फार्मालिटिका एक्स्पो’ के 8वें संस्करण के साथ वापस आ गया है. एक्सपो, 300 से अधिक ब्रांडों के साथ, फार्मा उद्योग के भीतर संपूर्ण मूल्य श्रृंखला पेश करेगा और नवीनतम उद्योग रुझानों और नवाचारों को लेने और विश्लेषणात्मक, लैब, मशीनरी, पैकेजिंग और अन्य संबंधित उद्योगों के साथ व्यापार करने में सक्षम करेगा. इसमें 7000 से अधिक व्यापार विजिटर और 30 सम्मेलन वक्ताओं की उम्मीद है.

भारत सरकार ने वर्ष 2022-23 के वार्षिक बजट में फार्मा क्षेत्र के लिए 86,200 करोड़ रुपये आवंटित किए है. यह, थोक दवाओं के आयात को कम करने के लिए पीएलआई योजना और कनेक्टिविटी में सुधार के लिए पीएम गति शक्ति पहल के साथ, फार्मास्युटिकल और हेल्थकेयर क्षेत्र के लिए बहुत आवश्यक बढ़ावा प्रदान करेगा. इनफॉर्मा मार्केट्स, इंडिया के प्रबंध निदेशक योगेश मुद्रास के अनुसार फार्मालिटिका एक्सपो के 8वें संस्करण को उसके पूर्ण ऑफ़लाइन प्रारूप में वापस लाकर खुश हैं, जिससे उद्योग से संबंधित लोगों और स्‍टेकहोल्‍डर को एक छत के नीचे लाया जा सकेगा. उद्योग को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए एक एकीकृत प्रयास में शामिल है. यह भारत में आइडिया, इनोवेट इन इंडिया, मेक इन इंडिया और मेक फॉर द वर्ल्ड के पीएम के विजन के अनुरूप है.

READ More...  उचित देखरेख के अभाव में बदहाल देशरत्न डॉ. राजेंद्र प्रसाद का पैतृक आवास, कब बदलेगी सूरत?

Tags: Pharma Industry, Pharma units

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)