e0a4ace0a482e0a497e0a4bee0a4b2 e0a495e0a58de0a4b0e0a4bfe0a495e0a587e0a49f e0a4b8e0a482e0a498 e0a4b8e0a587 e0a485e0a4a8e0a4ace0a4a8
e0a4ace0a482e0a497e0a4bee0a4b2 e0a495e0a58de0a4b0e0a4bfe0a495e0a587e0a49f e0a4b8e0a482e0a498 e0a4b8e0a587 e0a485e0a4a8e0a4ace0a4a8 1

कोलकाता. भारतीय क्रिकेट टीम से दरकिनार किए गए अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ‘खिलाड़ी कम मार्गदर्शक’ की भूमिका के लिए त्रिपुरा से बातचीत कर रहे हैं. इसकी जानकारी एक अधिकारी ने दी. दाएं हाथ के बल्लेबाज साहा का बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) से भी विवाद हो गया था. साहा ने हाल में बंगाल की ओर से रणजी ट्रॉफी क्वार्टरफाइनल में खेलने से इनकार कर दिया था.

इस अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘वह त्रिपुरा के लिए ‘खिलाड़ी कम मेंटॉर’ की भूमिका निभाना चाहते हैं. वह त्रिपुरा में शीर्ष परिषद के कुछ सदस्यों से बातचीत कर रहे हैं लेकिन अभी तक कुछ तय नहीं हुआ है. पहले उन्हें कैब से और फिर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) से अनापत्ति पत्र हासिल करना होगा, तभी यह प्रक्रिया आगे बढ़ सकती है.’

यह भी पढ़ें:‘क्रिकेट मैच से ज्यादा दबाव था…’ शादी के बाद दीपक चाहर ने डांस VIDEO शेयर कर क्यों कहा ऐसा? जानिए

राजकोट T20 जीतने के बाद टीम इंडिया को किसने दी House Party? भारतीय पेसर ने सोशल मीडिया पर शेयर की तस्वीर

गुजरात टाइटंस को आईपीएल चैंपियन बनाने में निभाई अहम भूमिका 
गुजरात टाइटंस के इंडियन प्रीमियर लीग खिताब जीतने में अहम भूमिका निभाने वाले साहा से इस पर बात नहीं हो सकी. साहा ने कहा में बंगाल क्रिकेट टीम से रिश्ता तोड़ने को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी थी. उन्होंने साफ कर दिया था कि रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मुकाबले के लिए भी अगर उन्हें बंगाल की टीम में चुना जाता है, तो भी वो इस सीजन में इस टीम की तरफ से नहीं खेलेंगे.

READ More...  IPL 2021 से पहले CSK को बड़ा झटका, बाहर हुए Josh Hazlewood

साहा ने कहा था कि उनकी कई क्रिकेट एसोसिएशन से बातचीत चल रही है. लेकिन वो किस टीम की तरफ से घरेलू क्रिकेट खेलेंगे, यह अब तक फाइनल नहीं हुआ है. दरअसल, पिछले साल बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के एक पदाधिकारी ने साहा की प्रतिबद्धता पर सवाल उठाए थे. इसी वजह से उन्होंने नाराज होकर बंगाल टीम से 15 साल पुराना रिश्ता तोड़ लिया था.

ऋद्धिमान साहा 15 साल तक बंगाल के खेले 
2007 में बंगाल के लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू करने वाले साहा ने कहा कि 15 साल तक बंगाल के लिए खेलने के बाद यह फैसला लेने से वो बहुत दुखी हैं. साहा ने बंगाल टीम से हुए विवाद पर हाल में कहा था, ‘मेरे लिए भी यह बहुत दुखद एहसास है कि बंगाल के लिए इतने लंबे समय तक खेलने के बाद मुझे इस तरह के हालात से गुजरना पड़ा. यह निराशाजनक है कि लोग इस तरह की टिप्पणियां करते हैं और आपकी ईमानदारी पर सवाल उठाते हैं.’

Tags: Bengal, Ranji Trophy, Team india, Wriddhiman saha

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)