e0a4ace0a4bee0a4b0e0a4bfe0a4b6 e0a495e0a4be e0a495e0a4b9e0a4b0 e0a497e0a581e0a49ce0a4b0e0a4bee0a4a4 e0a494e0a4b0 e0a4aee0a4a7e0a58d
e0a4ace0a4bee0a4b0e0a4bfe0a4b6 e0a495e0a4be e0a495e0a4b9e0a4b0 e0a497e0a581e0a49ce0a4b0e0a4bee0a4a4 e0a494e0a4b0 e0a4aee0a4a7e0a58d 1

नई दिल्ली: गुजरात और मध्य प्रदेश में बारिश से संबंधित घटनाओं में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई. पश्चिम और मध्य भारत के कुछ हिस्सों में सोमवार को हुई भारी बारिश के कारण हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया. महाराष्ट्र के गढ़चिरौली और नासिक जिले में भारी और लगातार बारिश के कारण कई नदियों के जल स्तर में वृद्धि के बाद 3 व्यक्ति लापता हो गए, वहीं गोदावरी नदी के किनारे स्थित कई मंदिर जलमग्न हो गए.

अधिकारियों ने कहा कि गढ़चिरौली जिले में पिछले तीन दिनों में 3 लोग नाले में बह गए और बाद में उनके शव निकाले गए. उन्होंने बताया कि हालांकि नाले में बह जाने के बाद से तीन और लोग अब भी लापता हैं. मुंबई और उसके आसपास के इलाकों में भी सोमवार को मध्यम बारिश हुई. एक सप्ताह से अधिक समय बाद सोमवार दोपहर को दिल्ली के कुछ हिस्सों में बारिश हुई, जिससे उमस भरे मौसम से थोड़ी राहत मिली. हालांकि, शाम होते-होते मौसम फिर से उमस भरा हो गया.

गुजरात के जिलों में नदियां उफान पर, बाढ़ की स्थिति
मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राजस्थान में ज्यादातर जगहों पर मध्यम बारिश हुई, जबकि सोमवार सुबह तक पिछले 24 घंटे में छिटपुट जगहों पर भारी बारिश हुई. दक्षिण और मध्य गुजरात के जिलों में भारी बारिश के कारण कम से कम सात लोगों की मौत हो गई. बारिश से कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई, जबकि 9,000 से अधिक लोगों को स्थानांतरित कर दिया गया और 468 को बचाया गया. दक्षिण गुजरात में, डांग, नवसारी, तापी और वलसाड जिले प्रभावित हुए, जबकि मध्य गुजरात में वर्षा प्रभावित जिले पंचमहल, छोटा उदयपुर और खेड़ा हैं.

READ More...  क्या क्रिकेट को कोसने सुखद बनाता है?

गुजरात में अगले 5 दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी
मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों के दौरान डांग, नवसारी, वलसाड, तापी और सूरत में भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुजरात को केंद्र से हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. राज्य आपदा प्रबंधन मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी ने कहा, ‘पिछले 24 घंटे में बारिश से संबंधित घटनाओं में सात लोगों की मौत हो गई, गुजरात में आकाशीय बिजली गिरने, डूबने, दीवार गिरने जैसी बारिश जनित घटनाओं में 1 जून से अब तक 63 लोगों की मौत हो गई.’

मध्य प्रदेश में आकाशीय बिजली ने ली 7 लोगों की जान
मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के 52 में से 33 जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश के लिए ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया, जबकि लगातार बारिश के बीच आकाशीय बिजली गिरने से पिछले 24 घंटे में सात लोगों की जान चली गई. राजस्व विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि सोमवार दोपहर ढाई बजे समाप्त 24 घंटे की अवधि में विभिन्न स्थानों पर बिजली गिरने से सात लोगों की मौत हो गई, जिससे एक जून से अब तक राज्य भर में ऐसी घटनाओं से मरने वालों की संख्या 60 हो गई.

असम में 3.79 लाख से अधिक लोग बाढ़ की चपेट में हैं
आईएमडी ने 14 जुलाई तक नासिक जिले के लिए ‘रेड’ अलर्ट जारी किया है, जिसमें 24 घंटों में 20 सेंटीमीटर से अधिक भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है. पुणे जिले में भी पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है. इस बीच, सोमवार को एक आधिकारिक बुलेटिन में कहा गया कि असम के 10 जिलों में 3.79 लाख से अधिक लोग अब भी बाढ़ की चपेट में हैं. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अनुसार, दिन के दौरान डूबने से किसी की मौत नहीं हुई, इस साल बाढ़ और भूस्खलन में मरने वालों की संख्या 192 है.

READ More...  पायलट प्रोजेक्ट: डाक विभाग ने पहली बार गुजरात में ड्रोन से पहुंचाई डाक, 25 मिनट में तय की 46 किमी की दूरी

Tags: Flood, Gujarat, Heavy Rainfall

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)