e0a4ace0a58de0a4b0e0a4bfe0a49fe0a587e0a4a8 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4e0a580e0a4af e0a4aee0a582e0a4b2 e0a495e0a587
e0a4ace0a58de0a4b0e0a4bfe0a49fe0a587e0a4a8 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4e0a580e0a4af e0a4aee0a582e0a4b2 e0a495e0a587 1

लंदन. ब्रिटेन की एक अदालत ने एक भारतवंशी दवा विक्रेता को अवैध दवाओं की आपूर्ति करने के जुर्म में 18 महीने की जेल की सजा सुनाई है. ‘नॉर्विच इवनिंग न्यूज’ के मुताबिक 40 साल से अधिक के अनुभव वाले लंदन के दवा विक्रेता दुष्यंत पटेल (67) ने एक महिला को 2020 में महीनों तक ‘श्रेणी सी’ के अंतर्गत आने वाली या ब्रिटेन के कानून के तहत प्रतिबंधित दवाओं की महीनों तक आपूर्ति की थी.

स्थानीय पुलिस ने पूर्वी इंग्लैंड के नॉर्विच में अलीशा सिद्दीकी नामक इस महिला की मौत के चार महीने बाद पटेल को इस मामले में संदिग्ध के रूप पहचान की थी. सिद्दीकी का शव अगस्त 2020 में मिला था. स्थानीय मीडिया के अनुसार, अलीशा सिद्दीकी की प्रारंभिक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सका, लेकिन विष विज्ञान (टॉक्सिकोलॉजी) परीक्षण के परिणाम से पता चला कि ज्यादा मात्रा में दवा की खुराक लेने से उसकी मौत हुई है.

कॉल रिकॉर्ड से मिली कई जानकारियां
सिद्दिकी के फोन की जांच से पता चला है कि जनवरी और अगस्त 2020 के बीच पटेल के साथ उसकी कई बार बातचीत हुई थी. पटेल को 18 महीने की सजा सुनाते हुए न्यायाधीश एलिस रॉबिन्सन ने कहा कि दवा विक्रेता द्वारा ‘‘विश्वास का गंभीर उल्लंघन’’ किया गया.

अवैध दवा की आपूर्ति का है आरोप
अदालत को बताया गया कि पटेल पर सिद्दीकी की मौत के संबंध में किसी भी अपराध का आरोप नहीं लगाया गया, केवल अवैध दवा की आपूर्ति का आरोप लगाया गया है.

READ More...  Ramcharitmanas controversy: 'हिम्मत है तो दूसरे धार्मिक ग्रंथों के खिलाफ बोलें', BJP ने CM नीतीश से शिक्षा मंत्री को बर्खास्त करने की मांग

Tags: Drug mafia, UK News, World news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)