e0a4ade0a4bee0a49ce0a4aae0a4be e0a49ce0a588e0a4b8e0a580 e0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a4b5e0a4bee0a4a6e0a580 e0a4aa
e0a4ade0a4bee0a49ce0a4aae0a4be e0a49ce0a588e0a4b8e0a580 e0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a4b5e0a4bee0a4a6e0a580 e0a4aa 1

शिवसागर (असम). असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने चाय जनजाति कल्याण मंत्री संजय किशन को प्रतिबंधित उल्फा (आई) से माफी मांगने के लिये चेतावनी दी है. सरमा ने यहां ‘गरीब कल्याण सम्मेलन’ से इतर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जैसे राष्ट्रवादी दल में ऐसी किसी गतिविधि या इस तरह के बयान देने की कोई गुंजाइश नहीं है.

उन्होंने कहा, ”संजय किशन ने उल्फा से माफी मांगकर बड़ी गलती की है. मैंने उनसे साफ कह दिया है कि भाजपा जैसी राष्ट्रवादी पार्टी में ऐसे काम की कोई गुंजाइश नहीं है.” उन्होंने कहा, ”मैंने उन्हें चेतावनी दी है कि वह भविष्य में ऐसा नहीं करेंगे. मैंने उन्हें भारत की राष्ट्रीय एकता के लिए और आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की सलाह दी है.”

मंत्री संजय किशन कारण बताओं नोटिस
सरमा ने 28 मई को किशन को एक बयान के लिये कारण बताओ नोटिस जारी किया था. किशन ने कुछ दिन पहले उल्फा (आई) के खिलाफ दिये बयान के लिये उससे माफी मांगी थी. किशन को नोटिस का जवाब देने के लिए तीन दिन का समय दिया गया था, जिसमें उनसे यह बताने के लिए कहा गया था कि उन्होंने उग्रवादी संगठन से माफी क्यों मांगी.

उल्फा (आई) के प्रमुख को झूठा कहने के लिए मांगी थी माफी
राज्य विधानसभा में तिनसुकिया से भाजपा विधायक किशन ने 13 मई को उल्फा (आई) के प्रमुख परेश बरुआ को ”झूठा” करार दिया था. किशन ने 15 मई को पत्रकारों से कहा था कि उन्होंने बरुआ को ”आहत करने” के इरादे से कुछ नहीं कहा था और अगर उन्होंने अनजाने में ऐसा किया है, तो वह इसके लिये माफी मांगते हैं.

READ More...  UP: पत्नी को सबक सीखाने के लिए पति ने चेहरे पर किया चाकू से वार

Tags: Assam, Himanta biswa sarma

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)