e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4 e0a495e0a587 e0a4aee0a4b9e0a4bee0a4a8 e0a4a7e0a4bee0a4b5e0a495 2 e0a4ace0a4bee0a4b0 e0a495e0a587 e0a493e0a4b2
e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4 e0a495e0a587 e0a4aee0a4b9e0a4bee0a4a8 e0a4a7e0a4bee0a4b5e0a495 2 e0a4ace0a4bee0a4b0 e0a495e0a587 e0a493e0a4b2 1

नई दिल्ली. भारत की लंबी दूरी के महान धावक और 2 बार के ओलंपियन हरि चंद का रविवार शाम निधन हो गया. वह 69 साल के थे. भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने हरि चंद के निधन पर शोक जताया है. महान धावक हरि ने 1976 और 1980 के ओलंपिक गेम्स में भारत का प्रतिनिधित्व किया था. उन्होंने एशियन गेम्स-1978 में भारत को 2 गोल्ड मेडल भी दिलाए थे.

हरि चंद ने 5000 मीटर और 10000 मीटर स्पर्धा में 1978 एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीते. इसके अलावा साल 1975 में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 10000 मीटर में भी उन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम किया.

इसे भी देखें, एथलीट ऐश्वर्या मिश्रा बोलीं- डोप टेस्ट एजेंसियों को गच्चा नहीं दिया, बीमार दादी की देखभाल कर रही थी

उनका 10000 मीटर में 28:48.72 का राष्ट्रीय रिकॉर्ड 32 साल तक कायम रहा जो बाद में सुरेंद्र सिंह ने तोड़ा. एएफआई अध्यक्ष आदिले सुमारिवाला ने शोक संदेश में कहा, ‘1980 ओलंपिक में मेरे साथी रहे हरि चंद भारतीय खेलों के लीजैंड थे. मुझे और पूरे खेल जगत को उनके निधन का दुख है. यह खेलों को हुई अपूरणीय क्षति है.’

पंजाब के होशियारपुर जिले के गोरेवाहा गांव के रहने वाले हरि चंद ने 1970 में राष्ट्रीय जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पहली बार 3000 मीटर में जीत दर्ज की थी. अच्छे धावकों के साथ अभ्यास के लिये वह केंद्रीय आरक्षित पुलिस बल में मुख्य कांस्टेबल बन गए. छोटे कद के होते हुए भी अपने दम खम के बूते उन्होंने लंबी दूरी की दौड़ जीती.

READ More...  एशिया कप हॉकी: जापान से हारी भारतीय टीम, टूर्नामेंट से बाहर होने का मंडराया खतरा

Tags: AFI, Athletics, Indian Athletes, Sports news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)