e0a4aee0a58ce0a4a4 e0a4b8e0a587 e0a48fe0a495 e0a4a6e0a4bfe0a4a8 e0a4aae0a4b9e0a4b2e0a587 e0a495e0a587e0a4a6e0a4bee0a4b0 e0a4a8e0a587

नवादा21 मिनट पहले

केदार लाल गुप्ता का लिखा सुसाइड नोट।

नवादा में कर्ज के चलते आत्महत्या करने वाले परिवार के मुखिया केदार लाल गुप्ता ने सुसाइड करने से एक दिन पहले मार्मिक सुसाइड नोट लिखा था। मौत के बाद गुरुवार सुबह यानी आज यह सुसाइड नोट दैनिक भास्कर के हाथ लगा है। इसमें परिवार के मुखिया केदार लाल गुप्ता ने अपनी परेशानी का जिक्र करते हुए महाजनों की प्रताड़ना की चर्चा की है। दो पन्नों के नोट में कर्ज देने वाले छह लोगों के नाम का जिक्र करते हुए उन्हें देश-समाज का दीमक बताया है। कहा है कि ऐसे लोग पूरे देश को दीमक की तरह चांट कर बर्बाद कर रहे हैं।

घटना के एक दिन पहले लिखा सुसाइड नोट, महाजनों के नाम का खुलासा

परिवार के मुखिया केदार ने 8 नवंबर को यह सुसाइड नोट लिखा है, जो घटना के एक दिन पहले की है। नोट में केदार ने लिखा है उन्होंने कुछ लोगों से कर्ज लिया था। जिसमें छह महाजन लगातार परेशान कर रहे हैं। शहर के न्यू एरिया मोहल्ले के मनीष सिंह, विकास सिंह, विजय सिंह, टुनटुन सिंह खटाल, डॉ. पंकज सिन्हा और गढ़ पर मोहल्ला के रणजीत सिंह से उन्होंने कर्ज लिया था।

केदार लाल गुप्ता और उनकी पत्नी अनिता कुमारी की फाइल फोटो।

केदार लाल गुप्ता और उनकी पत्नी अनिता कुमारी की फाइल फोटो।

कर्ज का दुगना-तिगुना ब्याज कर चुके थे जमा

सुसाइड नोट में लिखा है कि पांच-छह साल से महाजन कर्ज के लिए परेशान कर रहे थे। कर्ज का दुगना-तिगुना ब्याज जमा कर चुके थे। फिर भी कर्ज खत्म नहीं हुआ।

READ More...  दाह संस्कार से पहले बाढ़ में बहा शव, VIDEO:नवादा में डीजे के साथ निकाली गई अंतिम यात्रा, तेज धार में बहने लगे 10 लोग

कर्ज चुकता करने को मांग रहे थे मोहलत

सुसाइड नोट में जिक्र है कि कर्ज चुकता करने को महाजनों से मोहलत मांग रहे थे। साल-छह महीने का वक्त मांग रहे थे, लेकिन कर्ज देने वाले कुछ भी सुनने-समझने को तैयार नहीं थे। पिछले पांच-छह सालों से लगातार प्रताड़ित कर रहे थे। ब्याज नहीं देने की स्थिति में गाली गलौज करते थे। जिससे विवश होकर यह गलत कदम उठाना पड़ रहा है। उन्होंने यह भी लिखा कि कर्ज देने वाले समाज का कीड़ा है, जो समाज को बर्बाद कर रहे हैं। कर्ज देने वाले छहों लोगों ने कई लोगों को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है। ऐसे दीमक पर अंकुश लगाने की आवश्यकता है।

कर्ज के चलते परिवार के 5 लोगों ने दी जान

खबरें और भी हैं…

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)