e0a4afe0a581e0a4b5e0a4b0e0a4bee0a49c e0a4b8e0a4bfe0a482e0a4b9 e0a4abe0a482e0a4b8e0a587 e0a4aee0a581e0a4b6e0a58de0a495e0a4bfe0a4b2
e0a4afe0a581e0a4b5e0a4b0e0a4bee0a49c e0a4b8e0a4bfe0a482e0a4b9 e0a4abe0a482e0a4b8e0a587 e0a4aee0a581e0a4b6e0a58de0a495e0a4bfe0a4b2 1

हाइलाइट्स

युवराज सिंह अपने विला को लेकर मुसीबत में फंस गए हैं.
युवराज सिंह के पास गोवा के मोजरिम में शानदार विला है.
युवराज के इस विला को कासा सिंह के नाम से जाना जाता है.

नई दिल्ली. पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर युवराज सिंह द्वारा फैन्स को अपने गोवा स्थित हॉलिडे होम, कासा सिंह में रहने के लिए आमंत्रित करने के ठीक एक महीने बाद राज्य पर्यटन विभाग ने एक नोटिस जारी किया है. इस नोटिस में कहा गया है कि वह अनुमति के बिना ऐसा कर रहे हैं. इस नोटिस में युवराज सिंह से पूछा गया है कि टूरिस्ट ट्रेड एक्ट के तहत संपत्ति का पंजीकरण नहीं कराने पर उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई क्यों न शुरू की जाए.

नोटिस के अनुसार, जिसकी एक प्रति विशेष रूप से न्यूज18 के पास है, विभाग ने पूर्व क्रिकेटर को 8 दिसंबर से पहले पर्यटन के उप निदेशक राजेश काले के समक्ष व्यक्तिगत सुनवाई के लिए पेश होने या 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाने का निर्देश दिया है. न्यूज18 से बात करते हुए गोवा के पर्यटन निदेशक निखिल देसाई ने कहा कि राज्य सरकार उन सभी होटलों, विला या अपार्टमेंट पर नकेल कसने के अभियान पर है, जो बिना आवश्यक अनुमति के अवैध रूप से किराए पर दिए जा रहे हैं.

भोले-भाले नहीं हैं रोहित का रिकॉर्ड तोड़ने वाले N जगदीशन, सीनियर को दिखाई थी मिडिल फिंगर, दिलचस्प है कहानी

युवराज सिंह की संपत्ति विभाग के रडार पर तब आई, जब यह पाया गया कि 400 अन्य परिसरों के साथ इसने प्राधिकरण (पर्यटन विभाग) के साथ निर्धारित तरीके से पंजीकरण के लिए आवेदन नहीं किया था. देसाई ने कहा कि यह उन लोगों के खिलाफ गोवा सरकार के अभियान का हिस्सा है, जो पर्यटन विभाग के साथ पंजीकरण किए बिना अपना स्थान किराए पर दे रहे हैं, जो कि एक नियम है.

READ More...  PAK vs BAN T20I World Cup Live Score: शाकिब अल हसन ने जीता टॉस, बांग्लादेश करेगी पहले बल्लेबाजी

उन्होंने कहा, ”हमने कई लोगों को हमारे नोटिस की अनदेखी करते हुए पाया है. उन्हें मामूली राशि के साथ विभाग के साथ पंजीकरण करने के लिए कहा जाता है, क्योंकि यह प्रक्रिया है. हमारे बार-बार याद दिलाने के बावजूद कई लोग नियम का उल्लंघन कर रहे हैं. पर्यटन विभाग ने पिछले एक महीने में ही ऐसे 400 नोटिस भेजे हैं. अगर कोई इसकी अनदेखी करता पाया गया तो हम उसे कानून के प्रावधानों में शामिल करेंगे, जिसके लिए एक लाख रुपये का जुर्माना होगा.”

सूर्यकुमार यादव के टेस्ट डेब्यू के बीच रोड़ा बन सकता है इंडिया ए का खिलाड़ी, जानें बांग्लादेश के खिलाफ किसे मिलेगा मौका?

उन्होंने यह भी कहा कि अगर लोग जुर्माने का भुगतान नहीं करते हैं, तो संपत्ति की पानी और बिजली की आपूर्ति काट दी जाएगी और मालिकों के पास उनके दरवाजे पर आने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा. उन्होंने कहा, ”हम ये नोटिस उन सभी को जारी कर रहे हैं, जिन्होंने उल्लंघन किया है और हम यह नहीं देखेंगे कि कौन उच्च या शक्तिशाली है.”

पर्यटन निदेशक ने यह भी कहा कि वे Airbnb, Expedia, और MakeMyTrip जैसे होटल/होम रेंटल प्लेटफॉर्म पर कड़ी नजर रख रहे हैं, जो पर्यटकों से ऐसी अपंजीकृत संपत्तियों की बुकिंग स्वीकार करेंगे. देसाई ने कहा, ”हमारे साथ पंजीकृत नहीं होने वाली संपत्ति को बढ़ावा दिए जाने पर उन्हें दंडित भी किया जाएगा.”

मोरजिम में स्थित युवराज सिंह का विला, जिसे कासा सिंह कहा जाता है, चपोरा नदी के किनारे स्थित है. उन्होंने अपने प्रशंसकों और ग्राहकों को इस विला में रहने की सलाह दी थी, जिसमें उनके क्रिकेटिंग करियर की यादगार चीजें भी हैं.

READ More...  IND vs ENG: टीम इंडिया ने इंग्लैंड में शुरू की प्रैक्टिस, जानिए रोहित शर्मा टीम से जुड़े या नहीं?

Tags: Goa government, Goa tourism, Yuvraj singh

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)