e0a4afe0a582e0a4b0e0a58be0a4aa e0a4a8e0a587 e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4 e0a495e0a587 e0a4aee0a581e0a495e0a4bee0a4ace0a4b2e0a587 e0a4b0
e0a4afe0a582e0a4b0e0a58be0a4aa e0a4a8e0a587 e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4 e0a495e0a587 e0a4aee0a581e0a495e0a4bee0a4ace0a4b2e0a587 e0a4b0 1

वियना. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पश्चिमी शक्तियों के असंतोष के बावजूद रूस से कच्चे तेल का आयात करने के भारत के कदम का बचाव करते हुए कहा कि यूरोप ने फरवरी 2022 से भारत की तुलना में रूस से जीवाश्म ईंधन का छह गुना अधिक आयात किया है. दो देशों की अपनी यात्रा के दूसरे चरण में साइप्रस से यहां पहुंचे जयशंकर ने यह भी कहा कि यूरोपीय राजनीतिक नेतृत्व अपनी आबादी पर रूस-यूक्रेन संघर्ष के प्रभाव को कम करना चाहेगा, और यह एक विशेषाधिकार है जिसे उन्हें अन्य राजनीतिक नेतृत्व तक भी विस्तारित करना चाहिए.

जयशंकर ने सोमवार को ऑस्ट्रिया के राष्ट्रीय प्रसारक ओआरएफ को दिए एक साक्षात्कार के दौरान यह बात कही. उन्होंने कहा, ‘यूरोप अपने आयात को आरामदायक तरीके से कम करने में कामयाब रहा है. अगर 60,000 यूरो (प्रति व्यक्ति आय) पर, आप अपनी जनसंख्या के बारे में इतनी परवाह कर रहे हैं, तो मेरे यहां 2,000 अमेरिकी डॉलर की आय वाली आबादी है. मुझे भी ऊर्जा की आवश्यकता है, और मैं इस स्थिति में नहीं हूँ कि मैं तेल के लिए ऊँची कीमत चुका सकूँ.’

यूरोप ने 25 फरवरी को मॉस्को से बिजली क्यों नहीं बंद की?
जयशंकर ने यह भी कहा कि फरवरी 2022 से यूरोप ने भारत की तुलना में रूस से छह गुना अधिक ऊर्जा का आयात किया है. उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘अगर यह सिद्धांत की बात थी तो यूरोप ने 25 फरवरी को मॉस्को से बिजली क्यों नहीं बंद की.’ रूसी तेल के लिए भारत की चाहत तब से बढ़ गई है जब से मॉस्को ने इस पर छूट पर देनी शुरू की है क्योंकि पश्चिम ने यूक्रेन पर हमले के चलते रूस को दंडित करने के लिए उसके तेल का त्याग किया है.

READ More...  श्रीलंका में सर्वदलीय सरकार पर बनी सहमति, कैबिनेट मिनिस्टर्स भी देंगे इस्तीफा

पश्चिमी देश भारत से से रूसी तेल का त्याग करने के लिए कहते रहे हैं
उल्लेखनीय है कि रूस ने 24 फरवरी 2022 को यूक्रेन पर हमला शुरू कर दिया था और तब से पश्चिमी देश उसे दंडित करने के लिए देशों से रूसी तेल का त्याग करने के लिए कहते रहे हैं. भारत सरकार रूस के साथ अपने तेल व्यापार का यह कहते हुए पुरजोर बचाव करती रही है कि वह तेल वहीं से लेगी जहां यह सबसे सस्ता होगा.

Tags: Russia, S Jaishankar, Ukraine

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)