e0a4b0e0a582e0a4b8e0a483 e0a48fe0a4afe0a4b0e0a4b2e0a4bee0a487e0a4a8 e0a4a8e0a587 18 e0a4b8e0a587 65 e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a495e0a587
e0a4b0e0a582e0a4b8e0a483 e0a48fe0a4afe0a4b0e0a4b2e0a4bee0a487e0a4a8 e0a4a8e0a587 18 e0a4b8e0a587 65 e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a495e0a587 1

हाइलाइट्स

राष्ट्रपति पुतिन ने संबोधन में बताया की तीन लाख आरक्षित सैनिकों की तैनाती की जाएगी.
राष्ट्रपति पुतिन के घोषणा के बाद विदेश जाने वाली सभी फ्लाइटों के टिकट बिक गए.
रूसी एयरलाइन 18 से 65 साल तक के लोगों को टिकट देने से इनकार कर दिया है.

मॉस्को. राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा तीन लाख आरक्षित सैनिकों की तैनाती की घोषणा के बाद रूस से विदेश जाने वाली सभी उड़ानों के टिकट बिक गए. इसके बाद कड़ा फैसला लेते हुए रूस की एयरलाइंस ने 18 से 65 साल के लोगों को टिकट देने से इनकार कर दिया है. इस उम्र के लोग जब तक रक्षा मंत्रालय की तरफ से यात्रा की मंजूरी का प्रमाण नहीं दिखाते तब तक एयरलाइंस टिकट नहीं बेचेगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रूसी अधिकारियों ने बताया कि करीब 3 लाख आरक्षित सैनिकों की आंशिक तैनाती की योजना बनाई गई है. राष्ट्रपति पुतिन ने इसे महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि रूस पूरी पश्चिमी सैन्य मशीनरी से लड़ रहा है.

रूस की शीर्ष ट्रैवल प्लानिंग वेबसाइट Aviasales.ru के अनुसार पुतिन द्वारा घोषणा करने के बाद कुछ ही मिनट के भीत मॉस्को से जॉर्जिया, तुर्की और अर्मेनिया के लिए 21 सितंबर की सभी उड़ानों के टिकट बिक गए. बता दें कि इन देशों के लिए रूसी नागरिकों को वीजा की आवश्यकता नहीं पड़ती है. मॉस्को के समय दोपहर तक, मॉस्को से अजरबैजान, कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान और किर्गिस्तान के लिए सीधी उड़ानें भी वेबसाइट पर दिखना बंद हो गई थीं. बता दें कि पुतिन ने टेलीविजन के माध्यम से रूस की जनता को संबोधित करते हुए चेतावनी भरे लहजे में पश्चिम से कहा कि रूस अपने क्षेत्र की रक्षा के लिए हरसंभव कदम उठाएगा और यह कोरी बयानबाजी नहीं है.

READ More...  जमीन से की फायरिंग, 3500 फीट की ऊंचाई पर हवाई जहाज में बैठे शख्स को लगी गोली

पुतिन ने कहा कि उन्होंने तीन लास आरक्षित सैनिकों की तैनाती के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिया है और यह प्रक्रिया बुधवार से शुरू होगी. आरक्षित सैनिक वह व्यक्ति होता है, जो मिलिट्री रिजर्व फोर्स का सदस्य होता है. यह आम नागिरक होता है, जिसे सैन्य प्रशिक्षण दिया जाता है और जरूरत पड़ने पर इनकी कहीं भी तैनाती की जा सकती है. शांतिकाल में यह सेवाएं नहीं देते हैं.

Tags: Russia ukraine war, Vladimir Putin

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)